इतिहास के पन्नों मेंः 24 सितंबर

143368_moon_407

चांद की सतह पर पानी की खोजः भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने 22 अक्टूबर 2008 को चंद्रयान-1 लॉन्च किया, जो 30 अगस्त 2009 तक चंद्रमा के चक्कर लगाता रहा। चंद्रयान-1 में 11 विशेष उपकरण लगे थे जिसमें एक डिवाइस था- मून इम्पैक्ट प्रोब (एमआईपी) जिसने 14 नवंबर 2008 को चांद की सतह पर उतर कर अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में भारतीय क्षमता को साबित कर दिया। इसके पहले केवल अमेरिका, रूस और जापान ही ऐसा करने में कामयाब हुए थे।

खास बात यह कि इसी डिवाइस की मदद से चांद की सतह पर पानी की खोज का पता चला। 24 सितंबर 2009 को इसरो की तरफ से घोषणा की गई कि चंद्रयान-1 ने चांद की सतह पर पानी के प्रमाण तलाशे हैं। यह इतनी बड़ी खोज थी कि नासा ने भी पहले ही प्रयास में इसरो की इस कामयाबी को सराहा।

अन्य अहम घटनाएंः

1726ः ईस्ट इंडिया कंपनी को बंबई, कलकत्ता और मद्रास में नगर निगम व महापौर अदालतों को बनाने के लिए अधिकृत किया गया।

1859ः सैन्य विद्रोह में सक्रिय रहे नाना साहब का निधन।

1861ः सुप्रसिद्ध महिला क्रांतिकारी भीकाजी कामा का जन्म।

1932ः महात्मा गांधी व डॉ. भीमराव अंबेडकर के बीच पुणे की यरवडा सेंट्रल जेल में दलितों के लिए विधानसभाओं में सीटें सुरक्षित करने को लेकर विशेष समझौता हुआ।

1932ः बंगाल की महिला क्रांतिकारी प्रीतिलता वाडेदार ने आजादी के लिए जान की कुर्बानी दी।

1948ः होंडा मोटर कंपनी की स्थापना।

1950ः क्रिकेटर मोहिंदर अमरनाथ का जन्म।

1971ः सुप्रसिद्ध निशानेबाज लिम्बा राम का जन्म।

1979ः घाना ने संविधान अपनाया।

1990ः पूर्वी जर्मनी ने खुद को वारसा संधि से अलग किया।

1996ः व्यापक परीक्षण प्रतिबंध संधि पर हस्ताक्षर शुरू, अमेरिका संधि पर हस्ताक्षर करने वाला पहला देश बना।

2007ः म्यांमार की सैन्य सरकार के खिलाफ राजधानी यांगून में एक लाख से ज्यादा प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतरे।

Check Also

27_09_2022-754547_9140240

आसमानी बिजली से तबाही, तीन लोगों की मौत, भारी बारिश से लोगों को हुई परेशानी

हैदराबाद: तेलंगाना के कुछ इलाकों में बिजली ने कहर बरपाया है. अलग-अलग जगहों पर आसमानी बिजली गिरने …