डीएम की जांच में खुली पैक्स टेगिग में घपले की पोल, लगाई फटकार

नवादा, 15 जनवरी (हि.स.)।डीएम यशपाल मीणा ने शनिवार को तीसरे पहर नवादा जिले के नारदीगंज के तिरुमला राइस मिल की जांच की ।जहां राइस मिल चालू पाए गए ।जबकि सहकारिता से जुड़े अधिकारियों ने मिल बंद बता कर पैक्स टैगिंग नहीं किया था ।लेकिन जब डीएम ने देखा कि मील बहुत अच्छी तरह चलाया जा रहे हैं ।

इस मामले की गंभीरता को देखते हुए डीएम ने पैक्स टाइपिंग नहीं करने वाले अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए जल्द ही पैक स्टैकिंग के आदेश दिए हैं ।सच्चाई है कि नवादा जिले में राइस मिल के साथ पैक्स टैगिंग में घोर अनियमितता बरती गई है ।इस कार्य में संबंधित अधिकारियों ने लाखों की कमाई की है ।कम शक्ति वाले मिल को भी बड़ी संख्या में पैक्स टेगिग कर दिए गए हैं ।जबकि ज्यादा क्षमता वाले राइस मिल को कम पैक्स टैगिंग किए गए हैं ।

पैक्स टैगिंग के मामले में नवादा जिले में बहुत बड़ा घपला हुआ है । लाखों की कमाई को ध्यान में रखते हुए घोर अनियमितता के तक पैक्स टैगिंग की गई है। डीएम ने इस राइस मिल की जांच के दौरान सारी सच्चाई को आंखों से देखा और कार्रवाई के आदेश दिए हैं। डीएम ने चेतावनी दी है कि शिकायत मिली तो f.i.r. कर जेल की हवा खिला देंगे ।डीएम के सख्त रवैया के कारण टेगिग में अनियमितता बरते जाने वाले अधिकारियों के बीच हड़कम्प मचा हुआ है। इससे बड़ा अनार्थ क्या हो सकता है कि चालू नहीं किए गए कई मिलों के नाम पर भारी संख्या में पैक्स टैगिंग की गई है । डीएम खुद जांच करें तो सच्चाई का पर्दाफाश हो जाएगा ।सच्चाई सामने आएगी ।ऐसे तो भ्रष्टाचार में शामिल अधिकारी कागजी रिपोर्ट देकर मामले को रफा-दफा कर देंगे।

Check Also

पुलिस 3 दिन से कर रही थी शव की तलाश, अचानक जिंदा सामने आया शख्स, जानें पूरा मामला…

छपरा. बिहार के छपरा से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां …