हिसार में बहन की ननद के हत्यारे को उम्रकैद:50 वर्षीय अधेड़ ने लेन-देन के विवाद में सिर में मार दिया था सोटा; कोर्ट ने दोषी पर 10 हजार जुर्माना भी लगाया, 2016 का है मामला

 

मृतका के पैसे देने थे दोषी ने, लेकिन मौत दे दी। - प्रतीकात्मक तस्वीर - Dainik Bhaskar

मृतका के पैसे देने थे दोषी ने, लेकिन मौत दे दी। – प्रतीकात्मक तस्वीर

हरियाणा के हिसार जिले में बहन की ननद की हत्या करने वाले 50 वर्षीय अधेड़ को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। हत्या सिर में सोटा मारकर की गई थी। दोषी का नाम सोहन लाल है। एडीजे रेनू राणा की कोर्ट ने 11 दिसम्बर 2016 के इस मर्डर केस पर सुनवाई करते हुए 30 जुलाई को सोहन लाल को दोषी करार दिया था। सोहन लाल पर 10 हजार का जुर्माना भी लगाया गया है।

सोहनलाल ने अपनी बहन की ननद सिरसा के गांव ह्नजीरा निवासी 45 वर्षीय गोमती के सिर में सोटा मारकर उसकी हत्या की थी। दोनों के बीच में पैसे के लेन-देन को लेकर विवाद था। इस बारे में गोमती के पति बीर सिंह ने बताया कि उसकी पत्नी गोमती टीबी की बीमारी से पीड़ित थी। वह टीबी की दवाई लेने के लिये अक्सर जखोद खेड़ा गांव में जाती थी।

इस दौरान वह उसके रिश्तेदार सोहलनलाल के घर रुक जाती थी। सोहनलाल की पत्नी की तीन साल पहले मौत हो चुकी थी और वह अक्सर शराब के नशे में रहता है। लेकिन सोहनलाल ने बहाने से उसकी पत्नी गोमती के जेवर लिए और बेचकर पैसे नशे में उड़ा दिए। वारदात से दो दिन पहले गोमती मुझसे कहकर गई थी कि वह सोहनलाल से पैसे लेने जा रही है।

इसके बाद 11 दिसम्बर को उनके पास अग्रोहा थाने से फोन आया कि गोमती की लाश सोहनलाल के घर गांव में पड़ी है। जानकारी मिलते ही जब उन्होंने वहां जाकर देखा तो गोमती का शव खाट पर पड़ा था। उसके सिर में गहरा घाव था, जिसमें से काफी खून निकल रहा था। अग्रोहा पुलिस ने दो दिन बाद सोहनलाल को गिरफ्तार कर लिया था।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

कोरबा जिला युवा कांग्रेस के तत्वाधान में चिमनी हादसे में शहीद हुए श्रम वीरों को शांतिपूर्ण रूप से अर्पित की श्रद्धांजलि

कोरबा  : कोरबा जिला युवा कांग्रेस के तत्वाधान में चिमनी हादसे में शहीद हुए श्रम …