छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में पुलिस की गाड़ी समझकर नक्सलियों ने उड़ाया यात्री वाहन

रायपुर: एक पुलिस अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में गुरुवार को माओवादियों ने इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) से एक वाहन को उड़ा दिया, जिसमें एक मजदूर की मौत हो गई और 11 अन्य घायल हो गए।

पुलिस ने कहा कि वाहन में ज्यादातर मजदूर थे। उनमें से तीन गंभीर रूप से घायल हो गए और उन्हें अस्पताल ले जाया गया। उनमें से एक, धन सिंह ने बाद में दम तोड़ दिया।  दंतेवाड़ा के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव ने कहा कि घटना मालेवाडी थाना क्षेत्र के घोटिया गांव के पास सुबह करीब साढ़े सात बजे हुई।

एसपी ने कहा, ”यह एक कमांड आईईडी था, जिसे माओवादियों ने ट्रिगर किया था क्योंकि हमें तार मिले हैं। विस्फोट में एक महिला समेत सभी 12 लोग घायल हो गए। पुलिस टीम मौके पर पहुंची और उन्हें बचाया।” उन्होंने कहा, ”माओवादियों ने एसयूवी को पुलिस वाहन समझकर इसे निशाना बनाया होगा।”

पुलिस अधिकारी ने कहा, ”वे सभी मजदूर थे और बालाघाट (एमपी) से तेलंगाना जा रहे थे। नारायणपुर को दंतेवाड़ा से जोड़ने वाले निर्माणाधीन मार्ग पर किसी भी पुलिस वाहन की अनुमति नहीं है। ड्राइवर गूगल मैप का अनुसरण कर रहा था, इसलिए वह उस क्षेत्र में घुस गया और उसे निशाना बनाया गया।”

Check Also

गाड़ियों में लगेंगे नींद का पता लगाने वाले सेंसर, पायलट की तरह होगी ड्राइवर्स की जॉब

नई दिल्ली: केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने सड़क दुर्घटनाओं में …