दिल्ली में पटाखों के इस्तेमाल-भंडारण पर तत्काल रोक, सभी लाइसेंस रद्द, जानिए कब तक लागू रहेगी यह पाबंदी

देश की राजधानी को प्रदूषण से बचाने के लिए दिल्ली पुलिस की लाइसेंसिंग ब्रांच ने दिल्ली में किसी भी तरह के पटाखों के भंडारण, इस्तेमाल, खरीद-फरोख्त पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने संबंधी आदेश जारी कर दिया है. आदेश के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया और नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) द्वारा हाल ही में जारी की गई गाइडलाइंस के परिप्रेक्ष्य में यह कदम उठाया गया है.

बुधवार को इन तमाम तथ्यों की पुष्टि दिल्ली पुलिस लाइसेंसिंग शाखा के डीसीपी डॉ. गुरइकबाल सिंह सिद्धू ने भी की. दिल्ली पुलिस द्वारा जारी उसके इस आदेश में दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी (DPCC) के उस आदेश का भी जिक्र किया गया है, जो बीते 28 सितंबर 2021 को जारी किया गया था. डीपीसीसी ने अपने उस आदेश में साफ-साफ लिखा था कि राजधानी क्षेत्र में आगामी 1 जनवरी 2022 तक हर प्रकार के पटाखों के इस्तेमाल पर पूर्ण प्रतिबंध अनिवार्य रूप से जारी रहेगा.

इसलिए यह सख्त कदम उठाए गए

दिल्ली पुलिस की लाइसेंसिंग शाखा और दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी द्वारा लागू इन प्रतिबंधों के बाद राजधानी में अब तय/निर्धारित तारीख तक पटाखों की खरीद-फरोख्त और भंडारण पर भी रोक लग चुकी है. यह तमाम इंतजाम राजधानी में आने वाले कुछ दिनों में प्रदूषण के बढ़ने वाले संभावित स्तर/खतरे के मद्देनजर किए गए हैं. साथ ही कोविड-19 के बाद बदले और आईंदा कोविड-19 के संभावित खतरे से निपटने में भी यह प्रतिबंध सरकारी मशीनरी बेहद काम का मान कर चल रही है.

डीपीसीसी के आदेश का कड़ाई से पालन कराने के लिए दिल्ली पुलिस लाइसेंसिंग शाखा ने, राजधानी में उसके यहां पंजीकृत सभी पटाखा व्यापारियों के पूर्व में जारी लाइसेंस रद्द कर दिए जाने की भी पुष्टि की है. साथ ही दिल्ली पुलिस ने कहा है कि आने वाले हाल के समय में वो किसी को भी किसी भी तरह के पटाखों के भंडारण की अनुमति भी नहीं देगी. अगर इसके बाद भी कोई पटाखों को गोदामों में या फिर कहीं भी किसी अन्यत्र स्थान पर इकट्ठा करता पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कानूनी कदम उठाए जाएंगे.

आदेश की जद में यह सब आएंगे

दिल्ली पुलिस की लाइसेंसिंग ब्रांच द्वारा जारी आदेश के मुताबिक, “पटाखा लाइसेंस होल्डर, अस्थाई या स्थाई रूप से पटाखों का भंडारण करने वाला या खरीदने वाला. इनमें से चाहे जो भी होगा अगर वो इस आदेश की 1 जनवरी 2022 तक की अवधि में अवहेलना करता पाया गया, तो उसके खिलाफ समान कानूनी कार्रवाई की जाएगी. इस बारे में दिल्ली के सभी पटाखा लाइसेंसधारकों को भी अवगत करा दिया गया है.”

Check Also

स्कूलों में रेप की वारदातों पर बाल संरक्षण आयोग सख्त, दोषी शिक्षकों को बर्खास्त करने की करेगा सिफारिश

Jhunjhunu : राजस्थान के झुंझुनूं, सीकर और जालौर की स्कूलों में बच्चियों से शिक्षकों द्वारा हुई …