IMD की चेतावनी: मानसूनी बादल बनेंगे रॉकेट, बड़े परिवर्तन की आशंका

नई दिल्ली: मैदानों से लेकर पहाड़ों तक इन दिनों मानसूनी बादलों की आवाजाही का दौर जारी है, जिससे कहीं बारिश तो कहीं धूप खिली हुई है। बारिश ने लोगों का जीना हराम कर दिया है, जिसके चलते हर कोई काफी परेशान होता दिख रहा है। देश के अधिकांश इलाकों में बारिश की परेशानी जारी है। दिल्ली और आसपास के क्षेत्रों में धूप के बावजूद तापमान में कुछ इजाफा हो रहा है।

दूसरी ओर, हिमालय के कुछ हिस्सों में बादलों की गरज और बारिश के साथ तापमान में कमी आई है। दक्षिण भारत के कई हिस्सों में भी बारिश का दौर जारी है। पूर्वोत्तर राज्यों में बारिश ने लोगों की जिंदगी को परेशान किया है। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने देश के कई राज्यों में भारी बारिश और गरज की चेतावनी दी है।

आईएमडी के अनुसार, दिल्ली में आज थोड़ी राहत मिलने की संभावना है, और इसके साथ ही उसके बाद कुछ घंटों में बूदाबादी की चेतावनी दी गई है। न्यूनतम तापमान 26 से 28 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने की संभावना है। आने वाले 7 दिनों तक आसमान में बादलों की प्राधिकृतता की संभावना है।

दक्षिण की ओर जाते समय, तापमान में बदलाव की संभावना है, और 18 अगस्त से स्थिति के करीब आने की उम्मीद है। दक्षिण बांग्लादेश और आसपास के क्षेत्रों में चक्रवर्ती परिसंचरण के फलस्वरूप बारिश होने की संभावना है। उत्तर की ओर एक पश्चिमी विक्षोभ रेखा में पश्चिमी हवाओं में परिवर्तन की संभावना है।

बारिश के स्थानों पर

आईएमडी के अनुसार, 15 अगस्त तक हिमाचल प्रदेश में हल्की और मध्यम बारिश की संभावना है, और उत्तराखंड में भी 19 अगस्त तक बारिश के अलर्ट जारी है। आसपास के हिस्सों में तेज बारिश की संभावना है।

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भी मौसम में परिवर्तन के साथ भारी बारिश की संभावना है, और 20 अगस्त तक उत्तराखंड, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, त्रिपुरा में बारिश के साथ बिजली की चमक और गरज की चेतावनी दी गई है।

नमूना प्राणियों पर प्रभाव

बारिश का बढ़ने से, नमूना प्राणियों पर भी प्रभाव पड़ सकता है। बारिश के बाद उन्हें खाने के लिए उपयुक्त भोजन की आवश्यकता हो सकती है और वे खुद को सुरक्षित स्थानों में छिपाने की कोशिश कर सकते हैं। लोगों को सतर्क रहने और सुरक्षिती उपायों का पालन करने की सलाह दी जाती है।