यदि आपके घर में कहीं तुलसी का गुच्छा नहीं है तो आप दुखी रहेंगे

हिंदू धर्म में ऐसा माना जाता है कि तुलसी के पौधे में धन की देवी लक्ष्मी का वास होता है। मान्यताओं के अनुसार, घर में तुलसी रखने से नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है और सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह भी बना रहता है। वास्तुशास्त्र में तुलसी के पौधे रखने के कुछ स्थान बताए गए हैं। ऐसे में अगर आप इन नियमों को ध्यान में रखेंगे तो आपको फायदा मिल सकता है.

कोई अँधेरा नहीं होना चाहिए

यदि कोई तुलसी को अंधेरे कोने या ऐसे स्थान पर रखता है जहां रोशनी न पहुंचती हो तो उसे नुकसान हो सकता है। वास्तु शास्त्र में तुलसी रखने के लिए खुली जगह जहां सूरज की रोशनी आती हो, उपयुक्त मानी जाती है।

इस दिशा में भूलकर भी तुलसी का पौधा न लगाएं

तुलसी को कभी भी घर की दक्षिण दिशा में नहीं रखना चाहिए। क्योंकि वास्तु के अनुसार यह दिशा पितरों और यमराज की मानी जाती है। तुलसी का पौधा रखने के लिए उत्तर-पूर्व दिशा सबसे अच्छी मानी जाती है।

ये मूर्तियां न रखें

ध्यान रखें कि तुलसी को कभी भी भगवान गणेश या भगवान शिव की मूर्ति के पास नहीं रखना चाहिए। लेकिन आप इसे मंदिर के पास रख सकते हैं। ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि तुलसी की शाखाएं या पत्तियां जमीन को छूने न पाएं।

यह गलती मत करो

कई लोग छत पर तुलसी के पौधे रखते हैं, लेकिन वास्तु की दृष्टि से यह सही नहीं माना जाता है। तुलसी को बेसमेंट में भी नहीं रखना चाहिए। इसे आप अपनी बालकनी में रख सकते हैं.