अपनी ही पार्टी पर बरसे धीमान-सरकार न संभली तो 2022 में अकालियों जैसा होगा कांग्रेस का हश्र

संगरूर/दिड़बा : कैप्टन सरकार को जहां विरोधी घेर रहे हैं, वहीं सरकार के अपने विधायक भी उसकी कारगुजारी से खुश नहीं हैं। शुक्रवार को कांग्रेस पार्टी के एक और विधायक सुरजीत धीमान ने अपनी सरकार को घेरते हुए उसकी कारगुजारी पर प्रश्न चिन्ह लगाए हैं।

संगरूर के दिड़बा हलके में अमरगढ़ के विधायक सुरजीत सिंह धीमान ने अपनी सरकार को हर पक्ष से असफल करार दिया है। धीमान ने नवजोत सिंह सिद्धू की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह मेहनती नेता हैं परंतु सच्चे नेता पार्टी को रास नहीं आ रहे। सिद्धू ने समय-समय पर पार्टी के लिए प्रशंसनीय काम किए हैं।

उन्होंने कहा कि पहले 10 साल अकाली सरकार नशों के मुद्दे को लेकर कुछ नहीं कर सकी और अब पिछले तीन सालों से हमारी पार्टी की सरकार भी कुछ नहीं कर सकी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने विधानसभा चुनाव के समय लोगों से कई वायदे किए थे परंतु सरकार वायदे पूरे नहीं कर सकी तथा आने वाले डेढ़ साल में भी लगता है कि कुछ नहीं कर सकेगी। लोगों में पंजाब सरकार प्रति निराशा है, 2017 में अकालियों का जो हश्र हुआ था वही 2022 में कांग्रेस का होने का अंदेशा है। सरकार को संभलने की जरूरत है।

जिक्रयोग्य है कि बीते समय में पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रधान प्रताप बाजवा ने कैप्टन सरकार की कारगुजारी को लेकर कई आरोप लगाए थे। बीते दिनों बाघापुराना में पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए सरकार के सीनियर मंत्री सुखजिन्द्र सिंह रंधावा ने पंजाब के मौजूदा हालात व नौजवानों के विदेश जाने संबंधी एक सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि पंजाब में गैंगस्टरवाद और नशे के कारण पंजाब के नौजवानों के माता-पिता डरे हुए हैं।

इस डर के कारण व पंजाब में उपयुक्त रोजगार न मिलने से माता-पिता अपने बच्चों को विदेशों में भेज रहे हैं। रंधावा ने यह भी कहा था कि सरकार इस नाजुक मुद्दे को लेकर गंभीर है। कैबिनेट मंत्री रंधावा के इस बयान की लोगों में गंभीर चर्चा हुई। इससे पहले कांग्रेस के राज्य प्रधान सुनील जाखड़ भी मुख्यमंत्री की हाजिरी में सरकारी अधिकारियों के खिलाफ बरस चुके हैं।

Check Also

मुख्यमंत्री शिवराज की पत्नी ने घर में ही महादेव का रुद्राभिषेक किया, वीडियो जारी कर सावन की शुभकामनाएं दीं

कोरोना काल में देश और प्रदेश की शांति, सुख समृद्धि के लिए बाबा भोलेनाथ से …