ICMR का डेल्टा वेरिएंट पर बड़ा खुलासा, बच्चों पर असर को लेकर दिया बयान

नई दिल्ली: ICMR की इस स्टडी के मुताबिक बच्चों को संक्रमित (Infected) करने वाला सबसे प्रमुख कोरोना वायरस वेरिएंट डेल्टा (Corona Virus Variant Delta) साबित हुआ. यह स्टडी मार्च 2020 से जून 2021 के बीच की गई थी. इस स्टडी में 8 राज्यों (States) को शामिल किया गया. राज्यों में महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, राजस्थान, मध्य प्रदेश, पंजाब, आंध्र प्रदेश और चंडीगढ़ शामिल किए गए थे.

स्टडी में कौन-कौन थे शामिल?

आईसीएमआर (ICMR) की इस स्टडी में 18 साल तक के बच्चों के 583 सैंपल (Sample) शामिल किए गए. इनमें से 52% बच्चे 13 से 19 साल के बीच के थे, 41% बच्चे 3 से 12 साल के और 7% से कम बच्चे 3 साल से कम उम्र के थे. आपको बता दें कि कुल 583 बच्चों में से 37% बच्चे ऐसे थे जिनमें कोरोना वायरस (Corona Virus) के लक्ष्ण देखने को मिले और इनमें से 15% बच्चों को अस्पताल (Hospital) जाने की जरूरत पड़ी थी. ये सभी बच्चे कोविड-19 पॉजिटिव (Covid-19 Positive) थे.

 

क्या कहता है आंकड़ा?

कुल 583 सैंपल में से 512 की जिनोम सीक्वेंसिंग (Genome Sequencing) हुई. इनमें से 372 में वेरिएंट ऑफ कंसर्न (Variant of Concern) मिले जबकि 51 सैंपल में वेरिएंट ऑफ इंटरेस्ट (Variant of Interest) मिले. जानकारी के लिए बता दें कि 89 सैंपल में दूसरे वेरिएंट भी पाए गए. तकरीबन 66% बच्चों के सैंपल में डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) मिला.

सैंपल में दूसरे वेरिएंट भी शामिल

सैंपल में डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) के अलावा 9% बच्चों में कप्पा वेरिएंट (Kappa Variant), 7% बच्चों के सैंपल में अल्फा वेरिएंट (Alpha Variant) और तकरीबन 5% सैंपल में बीटा वेरिएंट (Beta Variant) मिला.

 

किस राज्य में कौन-सा वेरिएंट ज्यादा?

कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और तेलंगाना में डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) ज्यादा मिला. जबकि महाराष्ट्र, राजस्थान और चंडीगढ़ के बच्चों के सैंपल में कापा वेरिएंट (Kappa Variant) पाया गया.

Check Also

ईडी की चार्जशीट में कहा गया कि महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री ने दी ट्रांसफर और पोस्टिंग के लिए अधिकारियों की सूची

मुंबई, 29 जनवरी (आईएएनएस) प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 100 करोड़ पीएमएलए मामले में महाराष्ट्र के पूर्व …