ICC की हिमाकत, भारत को दी T20 वर्ल्ड कप की मेजबानी छीनने की धमकी!

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को 2021 में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप की मेजबानी भारत से छीने जाने की धमकी दी है। अगर आईसीसी भारत से टी20 वर्ल्ड कप की मेजबानी वापस ले लेता है तो यह भारत के लिए बड़ा झटका होगा। इसे लेकर विवाद गहराने की आशंका बढ़ती जा रही है। आईसीसी के वकील जोनाथन ने बीसीसीआई को 29 अप्रैल को एक पत्र लिखा था, जिसमें कहा गया था कि 18 मई के बाद भारत से कभी भी टी20 वर्ल्ड कप की मेजबानी छीनी जा सकती है।

क्या है वजह
दरअसल, आईसीसी और बीसीसीआई के बीच लंबे समय से टैक्स में छूट को लेकर विवाद चल रहा है। आईसीसी का कहना है कि बीसीसीआई टी20 वर्ल्ड कप के आयोजन के लिए भारत सरकार से टैक्स में छूट दिलाए। अगर आईसीसी को टैक्स में छूट नहीं मिलती है तो उसे 100 मिलियन डॉलर (करीब 757 करोड़ रुपए) का घाटा होगा। इसे लेकर आईसीसी बीसीसीआई पर दबाव बना रहा है।

पहले भी हो चुका है नुकसान
इससे पहले 2016 में भारत की मेजबानी में हुए टी20 वर्ल्ड कप में आईसीसी को नुकसान हो चुका है। उस समय आईसीसी को करीब 20 से 30 मिलियन डॉलर का नुकसान हुआ था, क्योंकि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड सरकार से टैक्स में छूट नहीं दिला सका था।

फरवरी 2018 में आईसीसी ने दी थी चेतावनी
आईसीसी ने बीसीसीआई को फरवरी 2018 में ही चेतावनी दी थी कि भारत अगर 2021 में टी20 वर्ल्ड कप और 2023 में वनडे वर्ल्ड कप की मेजबानी करना चाहता है तो सरकार को टैक्स में छूट देनी होगी। इस संबंध में बीसीसीआई की तरफ से कोई जवाब नहीं मिलने पर आईसीसी ने भारत से वर्ल्ड कप की मेजबानी छीनने की धमकी दी है।

आईसीसी ने 18 मई, 2020 तक मांगा था जवाब
जानकारी के मुताबिक, आईसीसी और बीसीसीआई के बीच पिछले दो महीने में ईमेल के जरिए इस पर चर्चा हुई है। आईसीसी ने इस मुद्दे पर 18 मई, 2020 तक जावब मांगा था। बीसीसीआई का कहना है कि कोरोना महामारी को देखते हुए इस समय सीमा को 30 जून तक बढ़ा दिया जाए, लेकिन आईसीसी ने इसे मानने से इनकार कर दिया।

Check Also

रद्द चैंपियनशिप के बदले पुरस्कार राशि बांटेगा विम्बलडन

लंदन-वर्ष के तीसरे ग्रैंड स्लेम विम्बलडन टेनिस चैंपियनशिप को कोरोना के कारण द्वितीय विश्व युद्ध …