जामताड़ा में भीषण रेल दुर्घटना, 12 लोग आए ट्रेन की चपेट में, दो की मौत

जामताड़ा (झारखंड), 28 फरवरी (हि.स.)। राज्य के जामताड़ा जिले के जामताड़ा-करमाटांड़ के कलझारिया के पास बुधवार देर शाम ट्रेन की चपेट में आकर दो लोगों की मौत हो गई। इस घटना में 12 लोगों की ट्रेन की चपेट में आने की सूचना मिल रही है। हालांकि अंधेरा होने के कारण मृतकों का सही अनुमान सामने नहीं आया है।

जामताड़ा एसपी अनिमेष नैथानी ने बताया कि अबतक दो शव मिले हैं। दो मृतकों की पहचान कर ली गई है, जिनमें एक का नाम मनीष कुमार बताया जा रहा है, जिसका आधार कार्ड रेलवे ट्रैक पर पाया गया। मनीष कुमार सासाराम भंगहा कटिहार बिहार और सिकंदर कुमार धपरी झाझा जमुई बिहार का रहने वाला था।

एसपी ने बताया कि जिला प्रशासन की ओर से राहत और बचाव कार्य के साथ सर्च जारी है। रेलवे से एक हेल्पलाइन नंबर शुरू करने का अनुरोध किया गया है। जांच के बाद कारण पता चलेगा। वहीं रेलवे पुलिस और स्थानीय प्रशासन की टीमें राहत और बचाव कार्य में जुटी हैं।

बताया जाता है कि अंग एक्सप्रेस में आग लगने की सूचना पर यात्री ट्रेन से कूद गए। इसी बीच सामने से आ रही झाझा-आसनसोल ट्रेन यात्रियों के ऊपर से गुजर गई। इस हादसे में कई लोगों पर ट्रेन चढ़ गई। फिलहाल राहत और बचाव का कार्य जारी है।

राष्ट्रपति ने जताया शोक

झारखंड के जामताड़ा जिले में एक रेल दुर्घटना में कई लोगों की आकस्मिक मृत्यु का समाचार अत्यंत दुखदाई है। मैं शोक संतप्त परिवारजनों के प्रति गहन संवेदनाएं व्यक्त करती हूं और घायल हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करती हूं।

जामताड़ा की घटना हृदय विदारक: राज्यपाल

झारखंड के जामताड़ा के कलझारिया स्टेशन के पास हुई ट्रेन दुर्घटना से कई यात्रियों की मौत की हृदय विदारक सूचना प्राप्त हुई। ईश्वर दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान करें। दुर्घटना में घायल यात्रियों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।

मुख्यमंत्री ने जताई संवेदना

मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने घटना पर संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि वो कालझरिया में हुई रेल दुर्घटना से व्यथित हैं। ईश्वर दिवगंत आत्माओं को शांति दे। रेलवे और प्रशासन की टीम रेस्क्यू में लगी है। दुर्घटना में घायल लोगों के शीघ्र स्वास्थ होने की कामना करता हूं।

जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी ने शोक व्यक्त किया

जामताड़ा रेल हादसे पर विधायक इरफान अंसारी ने शोक व्यक्त किया और कहा कि इस रेल हादसे में कुछ जान गई है और कई लोग लापता हैं ऐसी सूचना मुझे मिल रही है। निश्चित तौर पर यह दुखदायक घटना है। इस घटना से मैं बहुत दुखी हूं और लोग वहां सदमे में हैं। जानकारी मिलते ही मैंने रेल प्रशासन और जिला प्रशासन से युद्ध स्तर पर काम करने को कहा है। यह घटना कैसे घटी, क्यों घटी इन चीजों की जांच करने का भी निर्देश दिया गया है।

पूर्वी रेलवे के सीपीआरओ कौशिक मित्रा ने बताया कि विद्यासागर कासितार से गुजरने वाली ट्रेन संख्या 12254 से कम से कम 2 किमी दूर ट्रैक पर चल रहे दो व्यक्ति ट्रेन की चपेट में आ गए। आग लगने की कोई घटना नहीं हुई है। फिलहाल दो मौतों की पुष्टि हो चुकी है। मृतक यात्री नहीं थे बल्कि ट्रैक पर चल रहे थे। मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय जेएजी समिति का गठन किया गया है।