HDFC बैंक का मुनाफा तीसरी तिमाही में 18% बढ़ा, रेवेन्यू में भी इजाफा

HDFC Bank Q3 Results: HDFC बैंक ने शनिवार को बताया कि अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 10,342.2 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट हुआ है. इसमें सालाना आधार पर 18 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. निजी बैंक के कुल रेवेन्यू में भी मजबूत ग्रोथ देखी गई है. बैंक समीक्षाधीन तिमाही में कुल ब्याज आय 13 फीसदी बढ़कर 18,443.5 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है. एक साल पहले की अवधि में यह 16,317.6 करोड़ रुपये रही थी.

नतीजे मुख्य तौर पर बाजार की उम्मीदों के मुताबिक रहे हैं. बाजार को कुल मुनाफे में सालाना आधार पर 12 से 18 फीसदी और कुल ब्याज आय में 11 से 17 फीसदी की ग्रोथ की उम्मीद जताई थी. दूसरी आय या गैर-ब्याज वाला राजस्व 8,183.6 करोड़ रुपये पर रहा है, जो 31 दिसंबर को खत्म होने वाली तिमाही के लिए कुल रेवेन्यू का 30.17 फीसदी है. इसमें एक साल पहले की समान अवधि के दौरान 7,443.2 करोड़ रुपये से करीब 10 फीसदी की ग्रोथ दिखती है.

एडवांसेज में सालाना आधार पर 16.5% की ग्रोथ

निजी बैंक के एडवांसेज में सालाना आधार पर 16.5 फीसदी की ग्रोथ हुई है. HDFC बैंक ने एक प्रेस रिलीज में बताया कि उसका कोर नेट इंट्रस्ट मार्जिन 4.1 फीसदी पर रहा है. उसने कहा कि बैंक का लिक्विडिटी कवरेज रेश्यो समीक्षाधीन तिमाही के लिए 123 फीसदी पर रहा था, जो रेगुलेटरी जरूरतों से काफी ऊपर था. उसने कहा था कि यह बैंक को ग्रोथ अवसरों को कैपिटलाइज करने की स्थिति में रखता है.

अक्टूबर-दिसंबर में, फीस और कमीशन एक साल पहले की अवधि में 4,974.9 करोड़ रुपये के मुकाबले 5,075.1 करोड़ रुपये पर रहा है. जबकि, फॉरेन एक्सचेंज और डेरिवेटिव रेवेन्यू 949.5 करोड़ रुपये पर रहा है, जो पिछले साल की समान अवधि के 562.2 करोड़ रुपये के मुकाबले बढ़ा है.

बैंक का एनपीए घटा

अक्टूबर से दिसंबर की अवधि में निवेश की रिवैल्युएशन या सेल से मुनाफा 1,046.5 करोड़ रुपये पर रहा है, जो एक साल पहले की अवधि में 1,109 करोड़ रुपये पर रहा था. बाकी आय, जिसमें रेवेन्यू और डिविडेंड भी शामिल हैं, वे एक साल पहले के 797.1 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,112.5 करोड़ रुपये पर पहुंच गए हैं.

बैंक की एसेट क्वालिटी में मौजूदा वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में सुधार दिखा है. बैंक के कुल बेड लोन का रेश्यो पिछली तिमाही और सालाना आधार पर गिरा है. 31 दिसंबर 2021 की तारीख तक, HDFC बैंक का कुल नॉन-परफॉर्मिंग एसेट रेश्यो 1.26 फीसदी पर रहा है, जो 30 सितंबर 2020 को 1.35 फीसदी और 31 दिसंबर 2020 को 1.38 फीसदी के मुकाबले गिरा है. कुल नॉन-परफॉर्मिंग एसेट रेश्यो 31 दिसंबर को 0.37 फीसदी पर रहा है.

31 दिसंबर 2021 को HDFC बैंक के कुल प्रोविजन कुल एनपीए के 172 फीसदी पर रहे हैं.

Check Also

SBI: एसबीआई के ग्राहकों के लिए जरूरी खबर! बैंक ने शुरू की नई सर्विस, सभी को होगा फायदा

 SBI Toll Free Number: एसबीआई के ग्राहकों के लिए काम की खबर है. देश का …