एक्सिस बैंक में खाता है? 1 जून से बदल जाएगा यह नियम

अगर आपका भी एक्सिस बैंक में खाता है तो यह खबर आपके बहुत काम की है। आप इस खबर को पूरा पढ़ें। एक्सिस बैंक ने अपने ग्राहकों के बचत खातों पर सेवा शुल्क बढ़ा दिया है। इसका असर सभी ग्राहकों पर पड़ेगा। बैंक का यह नियम एक जून से प्रभावी होगा। बैंक ने खाते में रखे जाने वाले मिनिमम बैलेंस को भी बढ़ा दिया है। यदि आप बढ़ी हुई शेष राशि को बनाए नहीं रख सकते हैं, तो आपको पहले की तुलना में अधिक मासिक सेवा शुल्क देना पड़ सकता है।

मिनिमम बैलेंस 15 हजार से बढ़ाकर 25 हजार

बैंक की ओर से जारी नोटिफिकेशन में कहा गया है कि 1 जून 2022 से सेविंग्स/सैलरी अकाउंट के टैरिफ स्ट्रक्चर में बदलाव किया जा रहा है। शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में मासिक न्यूनतम शेष राशि 15,000 रुपये से बढ़ाकर 25,000 रुपये कर दी गई है। इसके अलावा ऑटो डेबिट सक्सेस नहीं मिलने पर जुर्माने को भी बढ़ा दिया गया है। यह 1 जुलाई से प्रभावी होगा।

600 रुपये मासिक सेवा शुल्क

अगर एक्सिस बैंक के ग्राहक खाते में न्यूनतम बैलेंस नहीं रख सकते हैं, तो उन्हें अधिक सर्विस चार्ज देना होगा। मेट्रो और शहरी क्षेत्रों के लिए अधिकतम मासिक सेवा शुल्क अब 600 रुपये होगा। अर्ध-शहरी क्षेत्रों के लिए 300 और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 250 रुपये।

ऑटो डेबिट की विफलता पर ऐसा जुर्माना लगाया जाएगा

नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस (एनएसीएच) की विफलता के मामले में शुल्क को बढ़ाकर 500 रुपये कर दिया गया है। इसके तहत पहली बार 375 रुपये, दूसरी बार 425 रुपये और तीसरी बार 500 रुपये देने होंगे। ऑटो डेबिट फेल होने पर भी चार्ज 50 रुपये 200 रुपये से बढ़ाकर 250 रुपये कर दिया गया है।

चेकबुक के लिए ज्यादा देना होगा भुगतान

अब अगर आप किसी बैंक से चेकबुक जारी करते हैं, तो आपको इसके लिए और भी अधिक भुगतान करना होगा। बदलाव के बाद एक कार्ड प्रति चेकबुक की कीमत 2.50 रुपये से बढ़ाकर 4 रुपये कर दी गई है। यह बदलाव भी 1 जुलाई से प्रभावी होगा। भौतिक विवरण और डुप्लीकेट पासबुक शुल्क के लिए 75 रुपये के बजाय अब आपको 100 रुपये का भुगतान करना होगा। यह बदलाव भी 1 जुलाई से प्रभावी होगा।

Check Also

सिंगल यूज प्लास्टिक बैन: आज से पूरे देश में सिंगल यूज प्लास्टिक बैन; इन 19 वस्तुओं पर प्रतिबंध

सिंगल यूज प्लास्टिक बैन: देश में सिंगल यूज प्लास्टिक उत्पादों पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया …