दीप्ति शर्मा के बचाव में आईं हर्षा भोगले- जनिता कमेंटेटर ने दिया ‘जबड़ा तोड़ देने वाला’ जवाब

Harsha-Bhogle-defends-Deepti-Sharma-run-out-Charlie-Dean

दीप्ति शर्मा द्वारा चार्ली डीन को रन आउट करने की बात को अंग्रेजी मीडिया और अंग्रेजी खिलाड़ी अभी भी पचा नहीं पा रहे हैं । खेल के नियमों के मुताबिक आउट होने के बावजूद अंग्रेजी मीडिया का एक बड़ा तबका दीप्ति शर्मा को गलत कहने पर अड़ा हुआ है. जबकि गलती चार्ली डीन की थी जिन्होंने दीप्ति के गेंदबाजी करने से पहले अपनी क्रीज छोड़ दी थी। लेकिन इंग्लैंड के क्रिकेटर लगातार अजीबोगरीब बातें कहकर दीप्ति को गलत साबित करने की कोशिश कर रहे हैं. इस बीच मशहूर कमेंटेटर हर्षा भोगले ने इंग्लिश मीडिया और खिलाड़ियों को करारा जवाब दिया है. उन्होंने लगातार 8 ट्वीट भेजे, जिसमें उन्होंने इंग्लैंड की मानसिकता को उजागर किया।

हर्षा भोगले ने दीप्ति शर्मा के समर्थन में ट्वीट किया और लिखा, ‘मैं हैरान हूं कि इंग्लैंड में मीडिया का एक बड़ा वर्ग एक युवती से सवाल कर रहा है जो खेल के नियमों के तहत खेल रही थी जबकि दूसरी अवैध रूप से खेल रही थी और लगातार गलत कर रही थी। मुझे लगता है कि इसमें बहुत से लोग शामिल हैं।

भोगले ने अंग्रेजों की मानसिकता पर प्रहार किया

हर्षा भोगले ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा, ‘यह एक सांस्कृतिक चीज है। अंग्रेजों को लगा कि ऐसा करना गलत है क्योंकि उन्होंने क्रिकेट के एक बड़े हिस्से पर राज किया और उन्होंने सभी को बताया कि यह गलत था। औपनिवेशिक शासन इतना शक्तिशाली था कि कुछ ही लोगों ने इस पर सवाल उठाया। नतीजा यह है कि मानसिकता अभी भी है कि इंग्लैंड जो सोचता है वह गलत है, बाकी क्रिकेट जगत को भी इसे गलत सोचना चाहिए।

हर्षा भोगले ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘इंग्लैंड की तरह सोचना और ऐसा दिखना बिल्कुल गलत है। यह एक तरह का विचार है कि टर्निंग ट्रैक गलत है और सीमिंग ट्रैक सही है। कारण सांस्कृतिक है। यह उनका विचार है। उन्हें नहीं लगता कि यह गलत है। इसलिए समस्या उत्पन्न होती है।

 

‘वेक अप – प्ले बाय द रूल्स’

एक अन्य ट्वीट में हर्षा भोगले ने लिखा, ‘दूसरों को भी सदियों पुरानी औपनिवेशिक नींद से जागना होगा। सबसे सरल बात यह है कि खेल को नियमों के अनुसार खेलें और खेल की भावना की व्याख्या करने की चिंता करना बंद करें। दूसरों पर राय थोपना बंद करें। नियम कहता है कि नॉन-स्ट्राइकर को क्रीज के पीछे होना चाहिए।’

हर्षा ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ‘जब तक गेंदबाज का हाथ अपने शीर्ष बिंदु पर है और आप उसका पालन करते हैं, तब तक खेल अच्छा रहेगा। यदि आप दूसरों पर उंगली उठाते हैं, जैसा कि इंग्लैंड में कई लोगों ने दीप्ति के साथ किया है, तो अपने पक्ष के खिलाफ सवाल सुनने के लिए तैयार रहें।

हर्षा भोगले ने आगे लिखा, ‘विश्वास करना बंद करो कि दुनिया को उनकी बातों का पालन करना चाहिए। जिस समाज में अंपायर देश के कानून को लागू करते हैं, वह क्रिकेट में है। दीप्ति ने खेल के नियमों से खेला और उसकी आलोचना बंद होनी चाहिए।

Check Also

IND Vs BAN ODI: क्या होगा रोहित शर्मा का? दूसरे ओवर में मैदान छोड़ना पड़ा

India Vs Bangladesh 2nd ODI: भारत बनाम बांग्लादेश तीन वनडे मैचों की सीरीज का दूसरा …