COVID 19: कोरोना के खतरे से बचाव की तैयारी, चीन-जापान समेत इन 6 देशों के यात्रियों के लिए गाइडलाइन जारी

अंतरराष्ट्रीय आगमन के लिए कोविड गाइडलाइंस:  कोरोना वायरस के प्रकोप ने चीन-जापान समेत दुनिया के कई देशों में तबाही मचा रखी है. भारत सरकार ने कोरोना के खतरे को देखते हुए इन देशों की यात्रा करने वाले लोगों के लिए कोविड की संशोधित गाइडलाइन जारी की है. अब चीन, सिंगापुर, हांगकांग, कोरिया, थाईलैंड और जापान जैसे 6 देशों से आने वाले लोगों के लिए आरटी-पीसीआर निगेटिव जांच रिपोर्ट अनिवार्य कर दी गई है। संशोधित कोविड गाइडलाइन में कई अन्य बातों का भी जिक्र है.

भारत के नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने कहा है कि नए साल की शुरुआत यानी 1 जनवरी, 2023 से चीन, सिंगापुर, सिंगापुर से सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर आने वाले यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट (आरटी) अनिवार्य होगी। हांगकांग, कोरिया गणराज्य, थाईलैंड और जापान (आरटी-पीसीआर निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट) अनिवार्य होगी, जो उन्हें एयरपोर्ट से निकलने से पहले दिखानी होगी।

मंत्रालय ने कहा कि एयरलाइंस को अपनी चेक-इन कार्यक्षमता में कुछ बदलाव करने और चीन सहित छह देशों की यात्रा करने वाले यात्रियों को ही बोर्डिंग पास जारी करने का निर्देश दिया गया है, जिन्होंने एयर सुविधा पोर्टल के माध्यम से पंजीकरण कराया है।

यात्रियों को सेल्फ डिक्लेरेशन कार्ड दिखाना होगा

मंत्रालय के बयान में कहा गया है, “चीन, सिंगापुर, हांगकांग, कोरिया गणराज्य, थाईलैंड और जापान से सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए हवाई सुविधा पोर्टल स्व-घोषणा चालू कर दिया गया है।” जिसमें विदेश से भारत आने वाले इन यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर निगेटिव जांच रिपोर्ट अपलोड करने के साथ-साथ स्व-घोषणा पत्र अपलोड करने की अनुमति देने का प्रावधान जोड़ा गया है।

सभी यात्रियों की आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट भी जरूरी है

संशोधित कोविड गाइडलाइन के मुताबिक हवाई यात्रा शुरू करने से 72 घंटे पहले लोगों को आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना अनिवार्य है. एक और खास बात यह है कि सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में 2% यात्रियों की रैंडम स्क्रीनिंग की मौजूदा व्यवस्था जारी रहेगी।

SARS-CoV-2 वैरिएंट 6 देशों में पाया गया था

अधिकारियों ने कहा कि दुनिया के विभिन्न हिस्सों में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों और छह देशों में सार्स-सीओवी-2 के वेरिएंट की रिपोर्ट के बीच ये फैसले लिए गए हैं। आज भारत के नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने सभी वाणिज्यिक एयरलाइनों, हवाईअड्डा संचालकों और राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों/प्रशासकों को संशोधित कोवि दिशानिर्देशों के संबंध में जानकारी भेजी है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, 29 दिसंबर को कुल 83,003 विदेशी यात्री देश में आए।

Check Also

अंतरिक्ष में पैदा होंगे बच्चे अंतरिक्ष में आईवीएफ तकनीक से पृथ्वी की कक्षा में पैदा होंगे बच्चे

अक्सर यह पूछा जाता है कि क्या बच्चे अंतरिक्ष में पैदा हो सकते हैं। हो सकता …