गुरुग्राम: अग्निवीर के नाम पर फौजियों को गुलाम बनाना चाहती है सरकार: नवीन जयहिन्द

गुरुग्राम, 23 जून (हि.स.)। आम आदमी पार्टी के पूर्व हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष नवीन जयहिन्द ने 26 जून को दिल्ली जंतर-मंतर पर पंहुचने का गुरुवार को गुरुग्राम में आकर आह्वान किया। यहां पत्रकार वार्ता में उन्होंने कहा कि उन्होंने सभी 37 बिरादरियों को मीडिया के माध्यम से उनकी ताकत का अहसास कराया। समाज की 37 बिरादरी कमजोर नहीं हैं। इसके लिए 26 जून को दिल्ली जंतर मंतर पर पहुंचकर अपनी ताकत का अहसास सरकार को करवाएं।

हर रोज कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा किसी न किसी हिन्दू ओर कश्मीरी पंडितों की हत्या की जा रही हैं। केंद्र की मोदी सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी हुई हैं कश्मीरी पंडितों ओर वहां रह रहे हिन्दुओं के लिए कुछ नहीं कर रही है। जिससे कश्मीरी पंडित कश्मीर से पलायन करने को मजबूर हैं। जयहिन्द ने बताया कि मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर जवानों को अग्निपथ के तहत चार साल नौकरी करने बाद उन्हें वापस आने पर सरकारी नौकरी देने की बात कह रहे है। हम मुख्यमंत्री से यह पूछना चाहते है कि जवानों को फौज में ही पक्की अथवा सरकारी नौकरी क्यों नहीं दी जा सकती। उन्होंने कहा कि सीएम मनोहर लाल हमेशा के लिए मुख्यमंत्री नहीं रहेंगे, जो वे चार साल बाद जवानों को नौकरी का वादा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने पहले जो वादे किए हंै, उन्हें पूरा करके दिखाए।

जयहिन्द ने कहा कि अगर अग्निपथ योजना इतनी ही अच्छी है तो सभी नेता व मंत्री अपने-अपने बच्चों को फौज में भर्ती करवाए। सरकार ने अग्निपथ योजना लाकर युवाओं के भविष्य के साथ भद्दा मजाक किया हैं। युवा केवल पैसों के लिए फौज में नहीं जाते, बल्कि युवाओं में देश सेवा का जुनून होता हैं।

जयहिन्द ने कहा कि देश के सांसद विधायक या मंत्री घर बैठकर कश्मीर के हिन्दुओं के पलायन पर ट्वीट कर देते हैं। यह बहुत बड़ी शर्मनाक बात हैं। अगर वास्तव में सांसद, विधायक कश्मीरी हिन्दुओं का भला चाहते हैं तो कश्मीर के लाल चौक पर जाकर एक घण्टा फेसबुक लाइव करें, तब वास्तव में देश को अहसास होगा कि देश के सांसद विधायक कश्मीरी हिन्दुओं के प्रति जवाबदेह हैं। फेसबुक लाइव करने वाले सांसद विधायकों को एक लाख रुपये इनाम देने के साथ-साथ उन्हें लाल चौक पर होटल में ही ठहरने का खर्च करेंगे।

Check Also

एक मूर्ति लेकिन दो मंदिर! क्या है महाभारत काल के इस रहस्यमयी मंदिर का रहस्य?

मुंबई: भारत में कई तरह के मंदिर हैं. जिसकी अलग-अलग बनावट और विशेषताएं हैं। जो हमेशा लोगों को …