सरकार ने एयर इंडिया में 100 फीसदी विनिवेश को दी मंजूरी, 17 मार्च तक लगेगी बोली

नई दिल्‍ली । सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र की एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया के 100 फीसदी शेयर बेचने का फैसला किया है। इसकी प्राथमिक जानकारी साझा कर दी गई है। सूत्रों से मिली जानकारी और सरकार की ओर से जारी दस्तावेज के मुताबिक एयर इंडिया में स्टेक बेचने के लिए बोली आमंत्रित की गयी है। 17 मार्च तक बोली लगाई जा सकती है।

सरकार की ओर से जारी दस्तावेज के अनुसार ‘रणनीतिक विनिवेश’ के तहत एयर इंडिया, एयर इंडिया एक्सप्रेस के सौ फीसदी और एआईएसएटीएस के 50 फीसदी शेयर बेचेगी। इसके अलावा प्रबंधन नियंत्रण का अधिकार भी सफल बोली लगाने वाले के हाथ चला जाएगा। सरकार इस विनिवेश में बोली प्रक्रिया का इस्तेमाल करेगी, जिसके लिए 17 मार्च तक का समय रखा गया है। सूत्रों के मुताबिक बिडिंग प्रक्रिया में जो क्वॉलीफाई करेंगे, उन्हें 31 मार्च तक इसकी जानकारी दे दी जाएगी। गौरतलब है कि एयर इंडिया और एयर इंडिया एक्सप्रेस में सौ फीसदी शेयर सरकार के पास है। इससे पहले 2018 में एयर इंडिया में 76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने का प्रस्ताव मोदी सरकार लेकर आई थी लेकिन इस डील के लिए कोई तैयार नहीं हुआ। ऐसे मे सरकार ने 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचने का फैसला किया है।

उल्‍लेखनीय है कि एयर इंडिया करीब 70 हजार करोड़ रुपये के नुकसान में है। घरेलू बाजार में एयर इंडिया का शेयर 12.7 फीसदी है। 2019 में 18.36 मिलियन पैसेंजर्स ने एयर इंडिया से उड़ान भरी थी। एयर इंडिया के विनिवेश को लेकर हाल ही में डावोस में वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा था कि यदि मंत्री नहीं होता तो बोली लगाता। इससे पहले केंद्रीय विमानन मंत्री हरदीप सिंह पूरी ने भी प्रेस कांफ्रेंस करके बताया था कि एयर इंडिया को बेचने की प्रक्रिया जारी है।

Check Also

पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों का नुकसान वित्त वर्ष 2018 की तुलना में 2019 में 83 प्रतिशत बढ़कर 61,360 करोड़ रुपए हुआ

2015 में रिवाइवल के लिए उदय स्कीम को लागू किया गया था, लेकिन अब उसका …