गर्दन का कालापन: इन घरेलू नुस्खों से पाएं गर्दन के कालेपन और झुर्रियों से छुटकारा

गर्दन का कालापन : कोहनियों और घुटनों के कालेपन को एक बार नज़रअंदाज कर दें, लेकिन गर्दन के कालेपन को नज़रअंदाज करना और छुपाना बहुत मुश्किल होता है. ज्यादातर लोग अपने चेहरे को गोरा करने पर ध्यान देते हैं। गला साफ करने से गंदगी नहीं निकलती है। जिससे इस क्षेत्र में अंधेरा छा जाता है। तो अगर आप भी गर्दन के काले रंग से परेशान हैं तो इसे हल्का करने के लिए यहां दिए गए घरेलू नुस्खों को आजमाएं।

1. दही, हल्दी, नींबू और वेसन का मास्क

दही कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसमें मौजूद लैक्टिक एसिड स्किन लाइटनिंग एजेंट की तरह काम करता है। नींबू में मौजूद विटामिन सी पिगमेंटेशन की समस्या को कम करता है। हल्दी में त्वचा को गोरा करने के गुण भी होते हैं। दूसरी ओर, चने का आटा एक प्रभावी प्राकृतिक स्क्रब है, इसलिए जब इन सभी सामग्रियों का एक साथ उपयोग किया जाता है, तो यह न केवल कालापन कम करता है, बल्कि त्वचा की बनावट में भी सुधार करता है। इस मास्क को आप गर्दन के अलावा चेहरे पर भी लगा सकते हैं। थोड़ा सूखने पर सादे पानी से धो लें।

2. पपीता, केला, शहद, नींबू और वेसन का मास्क

इस मास्क के अवयव विटामिन और खनिजों से भरपूर होते हैं। वे न केवल त्वचा को हल्का करते हैं बल्कि इसे भीतर से पोषण भी देते हैं। पपीते और बेसन को अच्छी तरह मैश कर लें। इसमें नींबू का रस और वेसन मिलाएं। इस गाढ़े पेस्ट को गर्दन और चेहरे पर लगाएं और अगर अंडरआर्म्स काले हैं तो आप वहां भी लगा सकते हैं। इसे 20-30 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर धो लें।

3. सेब का सिरका

सेब के सिरके में एसिटिक एसिड होता है, जो पिगमेंटेशन को हल्का करने का काम करता है। पहले इसे पानी के बराबर सिरके से पतला करें और फिर इसका इस्तेमाल करें। इसे 3-5 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर सादे पानी से धो लें। इसे दिन में दो बार इस्तेमाल करें और फर्क देखें।

4. दूध

दूध में नमक मिलाकर काले रंग की जगह पर मक्खन या दूध का प्रयोग करने से लाभ होगा। एक कॉटन बॉल को दूध में डुबोएं और इसे चेहरे, गर्दन, हाथों पर जहां चाहें वहां लगाएं और कम से कम 20 मिनट के लिए रख दें। त्वरित परिणामों के लिए दैनिक उपयोग करें। वैसे दूध त्वचा को हाइड्रेट रखने का भी काम करता है।

Check Also

भीषण गर्मी में 3 होममेड फेसपैक देंगे राहत, आजमाएं

गर्म मौसम में त्वचा की देखभाल अलग तरह से करनी पड़ती है। ऐसा इसलिए क्योंकि गर्म …