मुफ्त मिलता है 7.5 HP का सोलर वाटर पंप, रख-रखाव का जिम्मा बिजली कंपनियां पर, जानिए इस खास स्कीम के बारे में

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों की मदद के लिए किसान उदय योजना शुरू की है. इसका मकसद किसानों की आय दुगनी करने खेतों में कम लागत में अधिक पैदावार लेना है. किसान उदय योजना के तहत प्रदेश के किसानों को पंप सेंट देने का प्रावधान है. योजना के मुताबिक, साल 2022 तक प्रदेश के 10 लाख किसानों को मुफ्त में पंप सेट दिए जाएंगे. इन पंप सेटों के रखरखाव का खर्च भी 5 साल तक बिजली कंपनियां उठाएंगी. इस योजना के तहत फ्री सोलर पंप वितरित किए जाएंगे जो ऊर्जा में दक्ष होंगे, बिजली की खपत कम करेंगे.

फ्री सोलर पंप योजना का लाभ लेने के लिए जरूरी है कि आवेदक यूपी का नागरिक हो. किसी और प्रदेश के लोग इस योजना का लाभ नहीं ले सकते. इस योजना का लाभ सिर्फ किसान ही उठा सकते हैं. स्कीम का फायदा सिर्फ उन किसानों को मिलेगा जो किसी अन्य सोलर पंप योजना का लाभ न ले सके हों. अगर केंद्र सरकार या राज्य सरकार की सोलर पंप योजना से जुड़े हों तो किसान को उदय योजना का लाभ नहीं मिलेगा. वे ही किसान फ्री सोलर पंप योजना का लाभ लेंगे जिनके पास पहले से कोई पंप सेट न हो.

पंप सेट और किट देती है सरकार

सरकार इस योजना के तहत ऊर्जा दक्ष पंप सेट बांट रही है. ऐसे सेट 35 परसेंट तक कम बिजली खपत करते हैं. सरकार अभी 5 एचपी और 7.5 एचपी के पंप बांट रही है. इसके साथ ही सरकार की तरफ से किसानों को स्मार्ट किट भी दी जा रही है. पंप पूरी तरह से सोलर और स्मार्ट होंगे जिन्हें मोबाइल फोन के जरिये भी चालू और बंद किया जा सकेगा. इन पंपों के रखरखाव का जिम्मा बिजली वितरण कंपनियों को दिया गया है. यह योजना कई साल पहले शुरू हुई है लेकिन 2022 तक इसे पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. पहले चरण में गाजीपुर, गोरखपुर, वाराणसी, अंबेडकरनगर, मथुरा और अलीगढ़ में यह योजना शुरू की गई थी.

स्कीम के लिए जरूरी दस्तावेज

इस योजना का लाभ लेने के लिए किसान के पास अपना आधार कार्ड होना चाहिए. उसके पास खेती की जमीन के कागजात, आय प्रमाण पत्र, किसान विकास पत्र, मोबाइल नंबर, बैंक खाते की जानकारी, मूल निवासी पत्र और स्थाई पता का दस्तावेज होना चाहिए. जो किसान ये दस्तावेज जमा कराएंगे, उन्हें उदय योजना का लाभ जल्दी मिलेगा. यूपी सरकार ने इस योजना के लिए 70 करोड़ का बजट पास किया है. सरकार इस स्कीम को चरण दर चरण लागू करेगी. अलग-अलग चरणों में अलग-अलग जिले शामिल किए जाएंगे. जिन जिलों का नाम निकलेगा, वहां के लोग पंप सेट के लिए अप्लाई कर सकेंगे.

कैसे करें ऑनलाइन आवेदन

यूपी सरकार के कृषि विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर क्लिक कर पंप सेट के लिए आवेदन कर सकते हैं. इससे पहले आपको लॉग इन आईडी बनानी होगी. यह काम जिला का नाम, यूजर नाम, पासवर्ड आदि के सहारे होता है. इस यूजर आईडी को आगे के लिए भी संभाल कर रखना चाहिए क्योंकि बाद में भी इसकी जरूरत पड़ेगी. फॉर्म में पूछी गई जानकारी भरने के बाद सबमिट करें. इसके विभाग के अधिकारी आपसे संपर्क करेंगे और इस योजना का लाभ मिल सकेगा.

Check Also

कागज पर पचास बेड का कोविड अस्पताल, सुविधा नदारद

मीरजापुर : ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना से बढ़ रहे पीड़ित मरीजों की सुविधा के लिए …