झारखंड के दुमका में जादू-टोने के शक में तीन महिलाओं सहित चार लोग मल-मूत्र पीने को मजबूर

QT-dumka

रांची : झारखंड के दुमका से एक परेशान करने वाली खबर सामने आ रही है कि जादू टोना के शक में एक ही परिवार की तीन महिलाओं समेत चार लोगों को जबरन मल-मूत्र पिलाया गया और गर्म लोहे की रॉड से बेरहमी से पीटा गया. 

जिले के सरैयाहाट प्रखंड के असवरी गांव के कुछ लोगों ने उन्हें जबरन मल-मूत्र पिलाया. खबरों में कहा गया है कि चारों को लोहे की गर्म छड़ों से भी प्रताड़ित किया गया। 

इससे भी अधिक चिंताजनक बात यह है कि अमानवीय व्यवहार के बावजूद पीड़ित न तो पुलिस के पास जाने की हिम्मत जुटा पा रहे थे और न ही अपने ऊपर हुए अत्याचारों के बारे में किसी को बता सके। 

घटना की सूचना मिलने पर रविवार को पुलिस गांव पहुंची। इसके बाद चारों पीड़ितों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया।

जानकारी के मुताबिक, ज्योतिन मुर्मू नाम के शख्स ने शनिवार रात गांव के लोगों की बैठक बुलाई थी. बैठक में श्रीलाल मुर्मू के परिवार की तीन महिलाओं पर डायन होने का आरोप लगाया गया.

दावा किया गया कि गांव के जानवर और बच्चे अपने जादू टोने से बीमार हो रहे थे. इसके बाद करीब एक दर्जन लोगों ने लाठियों और अन्य हथियारों से लैस पीड़ितों के घर पर हमला कर दिया.

परिवार की तीन महिलाओं सोनामनी टुडू, रासी मुर्मू, कोसा टुडू और श्रीलाल मुर्मू को बेरहमी से पीटा गया। इसके बाद चारों को पकड़कर जबरन उनके मुंह में मल-मूत्र डाल दिया। उन्हें लोहे के गर्म रॉड से भी पीटा गया।

पीड़ितों को कथित तौर पर धमकी दी गई थी कि अगर उन्होंने पुलिस को घटना की सूचना दी तो पूरे परिवार को मार डाला जाएगा। रविवार की सुबह फिर पीड़ितों की पिटाई की गई।

इस बीच सरैयाहाट थाना प्रभारी विनय कुमार को घटना की सूचना मिली और पुलिस टीम को गांव भेजा गया. चारों लोगों को पहले सरायहाट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। हालांकि, उनकी गंभीर स्थिति को देखते हुए उन्हें आगे के इलाज के लिए देवघर रेफर कर दिया गया।

Check Also

रांची में अवैध पत्थर लदा ट्रैक्टर जब्त

रांची, 09 दिसम्बर (हि.स.)। रांची के बुंडू थाना क्षेत्र के हुमटा गांव से अवैध पत्थर …