जनवरी 2022 में आ सकता है फॉर्च्यून तेल बनाने वाली कंपनी Adani Wilmar का आईपीओ, साइज घटाकर ₹3,600 करोड़ किया

नई दिल्ली. देश के आईपीओ मार्केट में बहार है. अब दिग्गज उद्योगपति गौतम अडानी (Gautam Adani) की अगुआई वाले अडानी ग्रुप (Adani Group) की एक कंपनी अडानी विल्मर लिमिटेड यानी एडब्ल्यूएल (Adani Wilmar Ltd) भी आईपीओ (IPO) लाने जा रही है. इस मामले से वाकिफ दो सूत्रों के मुताबिक, कंपनी ने अपने आईपीओ के साइज को 4,500 करोड़ रुपये से घटाकर 3,600 करोड़ रुपये कर दिया है.

फॉर्च्यून तेल बनाती है अडानी विल्मर
सूत्रों ने बताया कि अडानी विल्मर लिमिटेड इसी महीने यानी जनवरी महीने के अंत तक अपना आईपीओ लाने पर विचार कर रही है. बता दें कि अडानी विल्मर एडिबल ऑयल ब्रांड फॉर्च्यून (Fortune) बनाती है. यह कंपनी अहमदाबाद स्थित अडानी ग्रुप और सिंगापुर के विल्मर ग्रुप की ज्वाइंट वेंचर कंपनी है. दोनों की इसमें हिस्सेदारी 50:50 है.

 

3,600 करोड़ रुपये के फ्रेश इश्यू जारी होंगे
आईपीओ के लिए दाखिल दस्तावेज के मुताबिक, कंपनी ने पहले 4,500 करोड़ रुपये का आईपीओ लाने की योजना बनाई थी. हालांकि अब कंपनी आईपीओ का साइज घटाकर 3,600 करोड़ रुपये कर दिया है. इस आईपीओ के तहत पूरे 3,600 करोड़ रुपये के फ्रेश इश्यू जारी किए जाएंगे और इसमें कोई ऑफ-फॉर-सेल यानी ओएफएस (OFS) नहीं होगा.

 

कैपिटल एक्सपेंडिचर के लिए इस्तेमाल होगा आईपीओ से मिलने वाली रकम
आईपीओ से मिलने वाली रकम में से 1,900 करोड़ रुपये कैपिटल एक्सपेंडिचर के लिए इस्तेमाल किए जाएंगे, 1100 करोड़ रुपये कर्ज चुकाने के लिए और 500 करोड़ रुपये स्ट्रैटजिक एक्विजिशन और निवेश में खर्च किए जाएंगे.

Check Also

वाट्सऐप में आ रहा है नया फीचर, अब स्क्रीनशॉट और इमेज को एडिट करना होगा और भी आसान

वाट्सएप (WhatsApp) अपने ऐप में नए डेवलपमेंट पर काम कर रहा है. कंपनी टाइम टू टाइम नए …