पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की सुरक्षा में तैनात रह चुका है INS रणवीर, जानें इसकी खूबियां

नई दिल्ली: मुंबई के नेवल डाकयार्ड (Naval Dockyard Mumbai) पर एक बड़ी घटना हुई है. आईएनएस रणवीर (INS Ranvir) के इंटर्नल कंपार्टमेंट में विस्फोट से तीन जवानों की मौत हो गई जबकि तीन लोग घायल हो गए. घायलों का इलाज नौसेना के अस्पताल में चल रहा है. घटना के तुरंत बाद चालक दल ने विस्फोट के बाद स्थिति में काबू पा लिया था. आईएनएस रणवीर (INS Ranvir Features) को भारतीय नौसेना के लिए बनाए गए पांच राजपूत श्रेणी के विध्वंसकों में से चौथे नंबर का विध्वंसक था. आईएनएस रणवीर नवंबर 2021 से इस्टर्न नेवल कमान से क्रॉस कोस्ट ऑपरेशनल तैनाती पर था और जल्द ही बेस पोर्ट पर लौटने वाला था

आपको बता दें कि आईएनएस रणवीर को भारतीय नौसेना में 28 अक्टूबर 1986 को शामिल किया गया था. इस विध्वंसक पोर्ट को यूक्रेन के मायकोलायिव शिपयार्ड के द्वारा तैयार किया गया था. 2017 तक इसे 61 कम्यूनार्ड्स के नाम जाना जाता था. आईएनएस रणवीर की लंबाई 482 फीट है जबकि इसकी बीम 52 फीट है.

समुद्र में यह विध्वंसक 65 किमी प्रति घंटा है. आपको बता दें कि 2008 में श्रीलंका में 15वें शार्क शिखर सम्मेलन के दौरान प्रधानंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और अन्य उच्च अधिकारियों की सुरक्षा के लिए श्रीलंका से बाहर आईएनएस रणवीर को आईएनएस मयसूर के साथ तैनात किया गया था.

2015 में 22 मई से 26 मई के दौरान आईएनएस रणवीर ने आईएनस शक्ति के साथ सिंगापुर दौरे पर भी गया था वहीं इसके अलावा 31 मई से 4 जून को आईएनएस रणवीर ने आईएनएस शक्ति के साथ इंडोनेशिया के साथ जकार्ता भी गया था. नौसेना के इस विध्वंसक को 30 अधिकारियों और करीब 310 नाविकों द्वारा संचालित किया जाता है.

 

Check Also

मुंबई के चूनाभट्टी के संततधार में भूस्खलन में तीन लोग घायल हो गए

मुंबई: मुंबई के चूनाभट्टी इलाके में भूस्खलन: मुंबई में आज सुबह से ही भारी बारिश हो …