बदायूं में पूर्व बीडीसी की गोली मारकर हत्या:सुबह घर से टहलने के लिए निकले थे पूर्व बीडीसी, गांव के खेत में पड़ा मिला शव, दारोगा ने नहीं दर्ज की थी गुमशुदगी की रिपोर्ट

पूर्व बीडीसी की गोली मारकर हत् - Dainik Bhaskar

पूर्व बीडीसी की गोली मारकर हत्

बदायूं जिले के उझानी कोतवाली क्षेत्र के बसोमा गांव में मंगलवार शाम पूर्व बीडीसी मेंबर की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्या का आरोप गांव के ही दो से तीन लोगों पर लगा है। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी सिटी प्रवीण सिंह चौहान मौके पर पहुंचे। उन्होंने उझानी कोतवाली पुलिस, एसओजी व सर्विलांस टीम को घटना का खुलासा करने के लिए लगाया है। घटना में दो लोगों पर नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है।

दारोगा ने नहीं दर्ज की गुमशुदगी की रिपोर्ट

बता दें कि मामला उझानी कोतवाली क्षेत्र के बसोमा गांव का है। यहां के रहने वाले रामदयाल मंगलवार सुबह घर से टहलने निकले थे। दोपहर तक जब रामदयाल घर वापस नहीं लौटे तो घर वालों ने तलाश की, लेकिन रामदयाल का कोई पता नहीं चला। तब रामदयाल के घर वाले उनकी गुमशुदगी दर्ज कराने के लिए उझानी कोतवाली पहुंचे तो वहां हल्का दारोगा लोकेंद्र भाटी ने यह कहते हुए परिजनों को वापस भेज दिया कि कहीं घूमने चले गए होंगे, वापस आ जाएंगे।

गांव के ही एक खेत में मिला शव

मंगलवार की शाम को रामदयाल का शव गांव के ही एक खेत में मिला। परिजनों ने गांव के ही मुकेश साहू, इंद्रपाल व एक अज्ञात व्यक्ति पर गोली मारकर हत्या करने का आरोप लगाया है। परिजनों ने बताया कि इन लोगों ने रामदयाल पर पहले भी जानलेवा हमला किया था। पहले भी पुलिस ने रामदयाल की रिपोर्ट दर्ज नहीं की थी, जिसकी वजह से आज रामदयाल की जान चली गई। रामदयाल की मौत से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। वहीं पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और हत्या आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

परिजनों ने हल्का दारोगा पर लगाए गंभीर आरोप

मृतक रामदयाल के परिजनों का कहना है कि जब वह रामदयाल की गुमशुदगी दर्ज कराने कोतवाली पहुंचे तब दारोगा लोकेंद्र भाटी ने यह कहकर लौटा दिया कि वह यहीं कहीं चले गए होंगे। उन्हें जाकर ढूंढ लो। अभी अपहरण नहीं हो गया। दारोगा ने यह भी कहा कि उसके बच्चे भी अक्सर ऐसे ही चले जाते हैं। परिजनों का आरोप है कि अगर दारोगा ने समय से गुमशुदगी दर्ज कर रामदयाल की तलाश की होती तो आज उसकी हत्या नहीं हुई होती। दारोगा की लापरवाही से रामदयाल की हत्या हुई है।

गांव के ही दो नामजद व एक अज्ञात पर हत्या का आरोप

रामदयाल की हत्या के बाद उनके भाई ने गांव के ही मुकेश साहू, इंद्रपाल व एक अज्ञात व्यक्ति पर गोली मारकर हत्या करने का आरोप लगाया है। मृतक रामदयाल के भाई का आरोप है कि इससे पहले भी इन लोगों ने रामदयाल पर जानलेवा हमला किया था। उस समय भी पुलिस ने रामदयाल की सुनवाई नहीं की थी, जिसकी वजह से आरोपियों के हौसले बुलंद थे और इसी वजह से उन्होंने रामदयाल की गोली मारकर हत्या कर दी।

हत्यारोपियों की गिरफ्तारी के लिए जुटी पुलिस

घटना की जानकारी मिलते ही एसपी सिटी प्रवीण सिंह चौहान मौके पर पहुंचे। उन्होंने उझानी कोतवाली पुलिस, एसओजी व सर्विलांस टीम को घटना का खुलासा करने के लिए लगाया है। एसपी सिटी का कहना है कि जल्द ही तीनों हत्या आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। फिलहाल मृतक के शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। पुलिस पूरे मामले की बारीकी से जांच कर रही है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

यूपी में दीवार एवं मकान गिरने की घटनाओं में 12 लोगों की मौत, योगी ने राहत-बचाव के निर्देश दिए

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़, अमेठी, सुलतानपुर और चित्रकूट जिलों के अलग-अलग स्थानों पर बारिश के …