‘फिट या अनफिट..!’, बैटिंग कोच ने केएल राहुल की फिटनेस को लेकर कही ये बात

भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का चौथा टेस्ट मैच रांची में खेला जा रहा है. इस मैच में उम्मीद जताई जा रही थी कि केएल राहुल एक बार फिर टीम में वापसी कर सकते हैं. बीसीसीआई ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि वह अभी पूरी तरह से फिट नहीं हैं. जिसके चलते वह चौथे टेस्ट से भी बाहर हो गए हैं. हालांकि, बीसीसीआई ने एक प्रेस विज्ञप्ति में यह भी कहा कि केएल राहुल धर्मशाला टेस्ट के लिए वापसी कर सकते हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें पूरी तरह से फिट होना होगा। अब टीम इंडिया के बैटिंग कोच विक्रम राठौड़ ने इस पर नया अपडेट दिया है.

मैं प्रतिशत में विश्वास नहीं करता – विक्रम राठौड़

जब विक्रम राठौड़ से केएल राहुल की फिटनेस के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि केएल राहुल अभी पूरी तरह से फिट नहीं हैं. मैं फिटनेस प्रतिशत नहीं जानता. मैं तो बस इतना जानता हूं कि कोई खिलाड़ी पूरी तरह फिट है या अनफिट, इसके अलावा कोई तीसरा कारण नहीं है और अगर वह पूरी तरह फिट नहीं है तो इसका मतलब है कि वह अनफिट है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा है कि बीसीसीआई की मेडिकल टीम उनकी देखभाल कर रही है और वह केएल की स्थिति को मुझसे बेहतर जानते हैं.

 

 

 

केएल राहुल हैदराबाद टेस्ट में चोटिल हो गए थे

टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज केएल राहुल हैदराबाद टेस्ट के दौरान चोटिल हो गए. उनकी जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव आ गया था. जिसके कारण उन्हें विशाखापत्तनम टेस्ट से हटना पड़ा. विशाखापत्तनम टेस्ट के बाद खबरें थीं कि वह राजकोट टेस्ट के लिए वापसी कर सकते हैं, लेकिन तब तक वह पूरी तरह फिट नहीं थे. हालांकि केएल राहुल के बाद में रांची टेस्ट के लिए वापसी की उम्मीद थी, लेकिन टेस्ट मैच शुरू होने से पहले चोट के कारण वह एक बार फिर बाहर हो गए। हालांकि, बीसीसीआई ने एक प्रेस रिलीज में यह भी कहा कि अगर केएल राहुल पांचवें टेस्ट से पहले फिट हो जाते हैं तो वह खेलते नजर आ सकते हैं.

भारत सीरीज में सबसे आगे है

हैदराबाद टेस्ट 28 रन से हारने के बाद टीम इंडिया ने बाकी दोनों मैचों में शानदार वापसी की. अब कप्तान रोहित शर्मा का लक्ष्य रांची टेस्ट जीतकर सीरीज में 3-1 की अजेय बढ़त हासिल करना होगा. इसके साथ ही इंग्लैंड के कप्तान बेन स्टोक्स की नजर भी रांची टेस्ट जीतकर सीरीज बराबर करने पर होगी. आपको बता दें कि आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में इंग्लैंड की टीम 8वें स्थान पर है.