फाइनेंशियल प्लानिंग:पहली सैलरी से ही करें इन्वेस्टमेंट की शुरुआत, नौकरी लगते ही सभी को करने चाहिए ये 5 जरूरी काम

 

नौकरी लगते ही आपको अपने फाइनेंशियल गोल्स के बारे में सोचना चाहिए। आपको रिटायरमेंट के बाद अपनी जरूरतों के लिए किसी पर निर्भर न रहना पड़े इसके लिए रिटायरमेंट प्लानिंग करना बहुत जरूरी है। इसके अलावा भविष्य की जरूरतों को पूरा करने के लिए पहली सैलरी से ही निवेश की शुरुआत करना चाहिए। कम उम्र में निवेश की शुरुआत करने से आप ज्यादा और आसानी से बड़ा फंड जुटा पाएंगे। हम आपको ऐसी 5 बातों के बारे में बता रहे हैं जो आपको नौकरी लगने के साथ करना चाहिए।

निवेश करना जरूरी
अपनी पहली नौकरी शुरू करने के साथ ही निवेश के बारे में सोचना चाहिए। खर्च के बाद आपके हाथ में जो पैसे बचते हैं उन्हें अपने हिसाब से सही जगह निवेश करना चाहिए। इस वक्त शुरू किया गया निवेश आपका भविष्य सुरक्षित बना सकता है। आप पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF), म्यूचुअल फंड या RD सहित अन्य जगह निवेश करके आसानी से बड़ा फंड तैयार कर सकते हैं।

हालांकि एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगर आप कम उम्र में निवेश करते हैं तो आपको इक्विटी लिंक स्कीम्स में निवेश करना चाहिए ताकि आपको अपने निवेश पर बेहतर रिटर्न मिल सके। इसके लिए आप फाइनेंशियल एक्सपर्ट की सलाह भी ले सकते हैं।

इमरजेंसी फंड बनाना है जरूरी
रिटायरमेंट के लिए पैसा जोड़ने के अलावा नौकरी जाने जैसी आपातकालीन स्थितियों के लिए भी आपको तैयार रहना चाहिए। यह इमरजेंसी फंड आपके कम से कम 5 से 6 महीने के वेतन के बराबर होना चाहिए। इससे आपको कोरोना काल जैसे बुरे वक्त से निपटने में मदद मिलेगी।

जितनी जल्दी हो सकें शुरू करें रिटायरमेंट के लिए निवेश
रिटायरमेंट के लिए बचत शुरू करने का सही समय वह है जब आपको पहली सैलरी मिलती है। ध्यान रखें लंबे समय में बचत में कम्पाउंडिंग की ताकत होती है। जितना देर से बचत शुरू करेंगे तय रकम जोड़ने के लिए उतनी अधिक रकम निवेश करनी होगी।

मान लीजिए आप यदि कोई 25 साल का व्यक्ति 60 की उम्र में रिटायरमेंट तक 1 करोड़ रुपए जोड़ने की प्लानिंग करता है, मान लें निवेश पर 12% सालाना दर रिटर्न मिल रहा हो तो उसे प्रतिमाह करीब 2 हजार रुपए निवेश करने होंगे। जबकि 45 साल की उम्र से निवेश शुरू करने वाले को प्रतिमाह 12 हजार रुपए निवेश करने होंगे।

हेल्थ इंश्योरेंस लेना रहेगा सही
कोरोना ने लोगों को हेल्थ इंश्योरेंस की अहमियत समझा दी है। ये आपके बुरे समय में काम आता है और बीमारी होने बिना आपकी सेविंग्स को इलाज पर खत्म होने से बचाता है। हेल्थ इंश्योरेंस आपको सही इलाज दिलाने में मदद करेगा। कम उम्र में हेल्थ इंश्योरेंस लेने पर आपको इसके लिए कम प्रीमियम चुकाना पड़ेगा।

जितना जल्दी हो सके कर्ज को निपटाएं
अगर आपने अपनी पढ़ाई या अन्य किसी काम के लिए कोई लोन या कर्ज ले रखा है तो जितनी जल्दी हो सके उसे निपटा दें। क्योंकि आपको उस पर ब्याज देना होता है। इनकम के शुरू होने के साथ ही लोन खत्म करके की कोशिश करना चाहिए।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

पेट्रोल और डीजल की कीमत में कोई बदलाव नहीं

मुंबई : घरेलू बाजार में सरकारी ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने गुरुवार को पेट्रोल और डीजल …