फ़ेविया बुल, बुल-भालू के बीच इंट्रा-डे लड़ाई के बाद

गुरुवार को शेयर बाजार में रस्साकशी चल रही थी। सकारात्मक शुरुआत के बाद तेजी से सुधार के पीछे बाजार में अयस्क की मजबूती देखी गई। हालांकि, इंटरवल के बाद बाजार लुढ़क गया और नेगेटिव जोन में आ गया। कुछ देर रेड जोन में रहने के बाद सांडों ने बाजार पर फिर से नियंत्रण कर लिया और अंतत: बाजार सकारात्मक रूप से बंद हुआ। बीएसई सेंसेक्स 443 अंक बढ़कर 51,633 पर जबकि निफ्टी 143 अंक बढ़कर 15,557 पर बंद हुआ। निफ्टी के 50 काउंटरों में से 44 सकारात्मक बंद दिखा रहे थे। जबकि सिर्फ 6 काउंटर निगेटिव पाए गए। इस प्रकार लंबे समय के बाद लार्ज-कैप में बाजार-चौड़ाई सकारात्मक देखी गई। खरीदार भी व्यापक बाजार में लौट आए और बीएसई पर बाजार की चौड़ाई सकारात्मक बनी रही। वोलैटिलिटी इंडेक्स इंडिया वेक्स 2 फीसदी गिरकर 20.88 पर बंद हुआ।

वैश्विक बाजारों में मिले जुले रुख के बीच गुरुवार को भारतीय बाजार में भारी उतार-चढ़ाव देखने को मिला। एक समय सकारात्मक नोट के साथ खुलने के बाद सेंसेक्स में 700 से ज्यादा अंक का सुधार दिख रहा था। वहां से इसने संपूर्ण सुधार खो दिया और 200 अंक नकारात्मक कारोबार किया। हालांकि, सांडों ने बाजार पर फिर से नियंत्रण कर लिया और बेंचमार्क बंद होने से पहले 500 से अधिक अंक सकारात्मक देखे गए। इस प्रकार, लंबे समय के बाद, बैल ने निचले लोगों को ऊपरी हाथ नहीं जाने दिया। हालांकि, बेंचमार्क 15,600 पर बंद होने में विफल रहा। विश्लेषकों के मुताबिक यह बाधा करीब 15,600 है। बाजार को इसे पार करने में कुछ समय लग सकता है। वैश्विक बाजारों से समर्थन मिलने पर यह स्तर रातोंरात पार किया जा सकता है। हालांकि, वैश्विक बाजारों में आए दिन उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है। बुधवार को ज्यादातर समय सकारात्मक कारोबार दिखाने के बाद अमेरिकी बाजार आखिरकार बुधवार को निगेटिव जोन में आ गया। एशियाई बाजारों में ताइवान और कोरिया एक प्रतिशत से अधिक नीचे थे। जबकि चीनी बाजार एक फीसदी से ज्यादा के सुधार के संकेत दे रहा था। यूरोपीय बाजारों में मामूली उतार-चढ़ाव देखा गया। जिसमें जर्मनी निगेटिव नजर आया। फ्रांस और ब्रिटेन के बाजार 5 फीसदी ऊपर थे।

सेक्टोरल परफॉर्मेंस के लिहाज से ऑटो इंडेक्स में 4.4 फीसदी की खासी तेजी आई। इसके अलावा आईटी, रियल्टी, फार्मा, एफएमसीजी और मेटल में भी मजबूती देखी गई। ऑटो इंडेक्स दिन के शीर्ष पर बंद होने में कामयाब रहा। कार-अग्रणी मारुति के शेयरों में 6.3 फीसदी सुधार के साथ लंबी अवधि के लिए सुर्खियों में रहा। शेयर रुपये के लायक है। 8,200 का स्तर पार कर गया था। टू व्हीलर लीडर हीरो मोटोकॉर्प के शेयरों में भी 6 फीसदी की तेजी आई। इसके अलावा आयशर मोटर में 6 फीसदी, अशोक लीलैंड में 5 फीसदी, महिंद्रा एंड महिंद्रा में 4.5 फीसदी, बजाज ऑटो में 4 फीसदी, टीवीएस मोटर में 3.8 फीसदी और टाटा मोटर्स में 3.6 फीसदी की तेजी रही। निफ्टी आईटी 2 फीसदी की मजबूती के साथ बंद हुआ। प्रमुख आईटी काउंटरों में, खजाने में 5 प्रतिशत की वृद्धि हुई। माइंडट्री 4.3 फीसदी, एलएंडटी इंफटेक 2.8 फीसदी, टीसीएस 2.7 फीसदी और एलएंडटी टेक्नोलॉजी 2 फीसदी ऊपर था। निफ्टी फिरमा 1.6 फीसदी की बढ़त के साथ तीसरे नंबर पर था। बायोकॉन ने फार्मा शेयरों को 4% पीछे छोड़ दिया। ल्यूपिन 2.6 फीसदी, सन फार्मा 2 फीसदी, डेविस लैब्स 1.9 फीसदी, अल्केम लैब 1.9 फीसदी, सिप्ला 1.8 फीसदी, टोरेंट फ़िरमा 1.3 फीसदी और जायडेल लाइफ 1 फीसदी ऊपर था। निफ्टी रियल्टी इंडेक्स 1.7 फीसदी सुधरा। शोभा डेवलपर्स 3.33 फीसदी, डीएलएफ 3 फीसदी, ब्रिगेड एंटरप्राइज 2.4 फीसदी, फीनिक्स मिल्स 2.21 फीसदी और इंडियाबुल्स रियल्टी 1.6 फीसदी ऊपर थे। व्यापक बाजार की बात करें तो बीएसई के 3,434 कारोबार वाले काउंटरों में से 2,038 सकारात्मक रहे। जबकि 1,277 निगेटिव ने बंद के संकेत दिए। 58 काउंटरों ने अपनी वार्षिक चोटियों को दर्ज किया। जबकि 119 काउंटरों ने सालाना निचला स्तर दिखाया। एनएसई डेरिवेटिव सेगमेंट में स्ट्राइड्स फ़रमा में 5.3 प्रतिशत, पर्सिस्टेंस सिस्टम में 4.7 प्रतिशत, निप्पॉन में 4.7 प्रतिशत, बजाज ऑटो में 4.1 प्रतिशत और जुबिलेंट फ़ूड में 4 प्रतिशत का सुधार हुआ। जबकि मन्नापुरम फाइनेंस 1. 75 प्रतिशत, रिलायंस इंडस्ट्रीज़। इंटरग्लोब एविएशन 1.6 फीसदी, गेल 1.42 फीसदी और नाल्को 1.31 फीसदी नीचे था।

Check Also

सेंसेक्स 326 अंक बढ़कर 53234 पर बंद हुआ

शेयर बाजार में आज दिन में उतार-चढ़ाव देखने को मिला। लेकिन दिन के अंत में बाजार …