FASTag के जरिए टोल पर कट गया ज्यादा पैसा तो Paytm दिला रहा रिफंड, 2.6 लाख यूजर्स को मिली मदद

पेटीएम भुगतान बैंक (Paytm Payment Bank) ने बीते साल टोल प्लाजा के साथ फास्टैग प्रयोगकर्ताओं (FASTag Users)के लिए 82 फीसदी विवादित मामलों में जीत हासिल की है. बैंक ने मंगलवार को बताया कि टोल प्लाजा पर फास्टैग प्रयोगकर्ताओं से अधिक राशि काटने के मामले आते हैं. इस तरह के मामलों में उसने 2.6 लाख ग्राहकों को उनका रिफंड वापस दिलाने में मदद की है.

Paytm Payment Bank ने बताया कि उसने एक ऑटोमेटेड भुगतान प्रबंधन प्रक्रिया (automated dispute management process) शुरू की है. इसके तहत यदि टोल प्लाजा पर फास्टैग से अधिक राशि कट जाती है, तो इसकी वापसी के लिए तत्काल दावा किया जाता है. पेटीएम भुगतान बैंक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (CEO) सतीश गुप्ता ने बयान में कहा, ‘हमारा प्रयास अपने प्रयोगकर्ताओं को सड़क पर बाधारहित यात्रा उपलब्ध कराने का है. इसके तहत हम अपने प्रयोगकर्ताओं की हरसंभव तरीके से मदद करते हैं. इसमें टोल प्लाजा पर आने वाली शिकायतों का निपटान भी शामिल है.’

15 फरवरी से सभी वाहनों के लिए फास्टैग हुआ जरूरी

पूरे देश में 15 फरवरी से सभी वाहनों के लिए फास्टैग को जरूरी कर दिया गया है. अगर आप नेशनल हाईवे से गुजरते हैं तो फास्टैग के बिना टोल पर डबल भुगतान करना होगा. कई मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अभी भी कैशलेन पर भीड़ दिखाई देती है. वाहन मालिक डबल टोल दे रहे हैं, लेकिन वे फास्टैग नहीं लगवा रहे हैं. अगर आप भी अपनी गाड़ी में फास्टैग लगवाना चाहते हैं तो टोल के पास बूथ मिल जाएगा. इसके अलावा सरकारी और प्राइवेट बैंकों से भी इसकी ऑनलाइन और ऑफलाइन खरीदारी कर सकते हैं. नए वाहन मालिकों को चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि यह वाहन के साथ लगा हुआ आता है.

Check Also

इस इश्क-ओ-मुहब्बत की, कुछ हैं अजीब रस्में… मुस्लिम लड़की ने हिन्दू लड़के संग मंदिर में लिए सात फेरे

बेगूसराय। इस इश्क-ओ-मुहब्बत की, कुछ हैं अजीब रस्में, कभी जीने के वादे, कभी मरने की कसमें… …