Farmers Protest: ‘दिल्ली पुलिस गिरफ्तार करने आती है तो घेराव करो’, बोले- किसान नेता जोगिंदर सिंह

कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे आंदोलनकारियों के लिए  ‘लंगर’ चला रहे या किसानों का सहयोग कर रहे लोगों को नोटिस जारी किए जाने पर किसान नेता जोगिंदर सिंह उगरान ने कहा कि हमारे संगठन से किसी को गिरफ्तार करना मुश्किल है. अगर सरकार यह मूर्खता करती है तो यह सही नहीं है. पंजाब के लोगों को पता है कि जारी किया गया नोटिस झूठा है. जब पुलिसकर्मी उनके संगठन के लोगों को गिरफ्तार करने जाएंगे तो पंजाब के लोग उनका घेराव करेंगे.

वहीं कृषि कानून के खिलाफ हो रहे आंदोलन का समर्थन कर रहे बीकेयू नेता बलबीर सिंह राजेवाल (Balbir Singh Rajewal) ने पंजाब के बरनाला में रविवार को किसान मजदूर एकता महारैली में अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्य पुलिस को दिल्ली पुलिस के साथ सहयोग नहीं करना चाहिए.

 

 

जांच के लिए नोटिस जारी करने पर ना हों पेश

राजेवाल ने किसानों से कहा कि अगर दिल्ली पुलिस आपको गिरफ्तार करने आते हैं तो पूरा गांव इकट्ठा हो जाए और उनका विरोध करे. इस रैली का आयोजन भारतीय किसान यूनियन (एकता उगराहां) और पंजाब खेत मजदूर संघ ने किया था. दो दिन पहले हरियाणा बीकेयू के प्रमुख गुरनाम सिंह चढूनी ने इसी तरह की अपील की थी.

राजेवाल ने किसानों से कहा कि दिल्ली पुलिस अगर जांच में शामिल होने के लिए उन्हें नोटिस जारी करती है तो उन्हें उनके पास पेश नहीं होना चाहिए और अगर दिल्ली पुलिस के जवान उनकी गिरफ्तारी करने आते हैं तो उनका ‘घेराव’ कीजिए.

उन्होंने दावा किया कि केंद्र की नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की सरकार किसान आंदोलन से डरी हुई है और आरोप लगाया कि जो लोग दिल्ली की सीमाओं के नजदीक प्रदर्शन स्थल पर ‘लंगर’ चला रहे हैं या किसानों का सहयोग कर रहे हैं उन्हें पुलिस नोटिस जारी कर रही है. राजेवाल ने कहा कि यह पंजाब सरकार के लिए परीक्षा का समय है जिसे राज्य पुलिस को कहना चाहिए कि वह दिल्ली पुलिस से सहयोग नहीं करे.

Check Also

प्रस्ताव पारित:हाईकोर्ट जज ने वकीलों से किया आग्रह ‘माई लॉर्ड’, योर लॉर्डशिप न कहें

  पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट के जज जस्टिस अरुण कुमार त्यागी ने वकीलों को उन्हें …