जाली अधिवास प्रमाणपत्र : सीबीआई ने कोलकाता और 24 उत्तरी परगना जिले में 8 स्थानों पर तलाशी ली

नई दिल्ली, 3 फ़रवरी (हि.स.)। जाली अधिवास प्रमाणपत्र रैकेट मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने शनिवार को कोलकाता और 24 उत्तरी परगना जिले में 8 स्थानों पर तलाशी ली। सीबीआई की यह कार्रवाई जाली अधिवास प्रमाण पत्र जारी करने वाले सक्रिय गिरोह के खिलाफ है। जाली अधिवास प्रमाण पत्रों का उपयोग सेना व अर्द्धसैनिक बलों में भर्ती के लिए किया जा रहा था।

सीबीआई की यह कार्रवाई कलकत्ता हाई कोर्ट के बुधवार को उस आदेश के साथ जोड़कर देखा जा रहा है, जिसमें हाई कोर्ट ने सीबीआई को भारतीय सेना और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) में अनियमित भर्तियों के आरोपों की जांच शुरू करने का आदेश दिया था। मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस जय सेनगुप्ता ने सीबीआई को तुरंत एफआईआर दर्ज़ कर आरोपों की जांच शुरू करने को कहा था। शिकायत के बाद सीबीआई ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी। हुगली जिले के निवासी एक याचिकाकर्ता ने इस मामले में कलकत्ता हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को संबोधित एक पत्र लिखा था।