गेमिंग कंपनियों से 14,000 करोड़ रुपये जीएसटी कलेक्शन की उम्मीद

नई दिल्ली: विभाग का अनुमान है कि अगले वित्त वर्ष में ऑनलाइन गेमिंग कंपनियों से वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के तहत 14,000 करोड़ रुपये का संग्रह होगा.

राजस्व विभाग के सूत्रों के मुताबिक चालू वित्तीय वर्ष के अंत में इस टैक्स से आय 7500 करोड़ रुपये होने का अनुमान है जो पिछले वित्तीय वर्ष में 1600 करोड़ रुपये थी.  

चालू वित्त वर्ष की दिसंबर तिमाही में 3,500 करोड़ रुपये का कलेक्शन हुआ. 

सरकार ने अक्टूबर से ऑनलाइन गेमिंग कंपनियों पर 28 फीसदी जीएसटी लगा दिया था. यह टैक्स कंपनियों द्वारा प्रति दांव ग्राहकों से ली जाने वाली रकम पर लगाया जाता है। देश की ऑनलाइन गेमिंग इंडस्ट्री का आकार करीब 1.50 अरब डॉलर होने का अनुमान है। इस उद्योग में वैश्विक निवेशकों का भारी निवेश है। सरकार ने ऊंची जीएसटी दर के अपने कदम का यह कहकर बचाव किया कि यह एक व्यसनी गतिविधि थी। 

राजस्व विभाग अप्रैल तक लागू कर ढांचे की समीक्षा करने की योजना बना रहा है। हालांकि, सूत्रों ने यह भी साफ किया कि जीएसटी दर में कटौती की कोई संभावना नहीं है.