डॉन की हर गतिविधि पर पैनी नजर:DG जेल CCTV के जरिए कर रहे हैं मुख्तार के बैरक की निगरानी; बांदा का तापमान पंजाब से 10 डिग्री सेल्सियस ज्यादा, AC की जगह मिला केवल एक पंखा

 

उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों में मुख्तार अंसारी पर करीब 52 मुकदमें दर्ज हैं। - Dainik Bhaskar

उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों में मुख्तार अंसारी पर करीब 52 मुकदमें दर्ज हैं।

बहुजन समाज पार्टी (BSP) विधायक मुख्तार अंसारी को बांदा जेल में बैरक नंबर 16 में शिफ्ट किए जाने के 24 घंटे से ज्यादा का समय बीत गया है। पंजाब में व्हील चेयर पर दिखने वाला मुख्तार अंसारी बांदा जेल पहुंचते ही खुद पैदल ही बैरक में गया था। मुख्तार अंसारी की हर गतिविधियों और उनके बैरक के आसपास आने-जाने वालों पर नजर रखने के लिए डीजी मुख्यालय जेल आनंद कुमार स्वयं नजर बनाए हुए हैं।

बताया जा रहा है कि CCTV कैमरे से बांदा जेल की हर गतिविधियों पर उनके द्वारा मॉनिटरिंग की जा रही है। बुंदेलखंड की गर्मी अंसारी को बांदा जेल में पंजाब जेल की अपेक्षा कम से कम 10 डिग्री अधिक तापमान बर्दाश्त करना पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि जहां पंजाब में 34 डिग्री तापमान था‚ वहीं बांदा में आज का तापमान 44 डिग्री सेल्सियस रहा।

24 घंटे होगी मुख्तार अंसारी के जेल बैरक की निगरानी

यूपी जेल विभाग के प्रमुख आनंद कुमार के अनुसार मुख्तार अंसारी की जेल और बैरक की निगरानी 24 घंटे की जा रही है। मुख्तार अंसारी की जेल व बैरक की निगरानी डीजी जेल आनंद कुमार स्वयं कर रहे हैं। डीजी जेल के द्वारा लगातार मुख्तार अंसारी की गतिविधियों के अपडेट जेल अधीक्षक से ली जा रही हैं। बता दें उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों में मुख्तार अंसारी पर करीब 52 मुकदमें दर्ज हैं।

पिछली बार की अपेक्षा इस बार सुविधाओं में बड़ी कटौती

दो वर्ष से ज्यादा पंजाब की रोपड़ जेल में बंद गैंगस्टर मुख्तार अंसारी बुधवार सुबह साढ़े चार बजे कड़़ी सुरक्षा के बीच बांदा के मंड़ल कारागार में हैं। इस बार उसे बुंदेलखंड की गर्मी सताएगी‚ क्योंकि रोपड़़ जेल की अपेक्षा यहां 10 डिग्री तापमान अधिक है। पिछली बार बैरक में उसे एसी नसीब था लेकिन अब सिर्फ पंखे से ही काम चलाना पड़ रहा है।

इस बार पुराने ठिकाने लौटे मुख्तार अंसारी की सभी सुविधाओं में सख्ती के साथ कटौती की गई है। अंसारी को बांदा जेल में पंजाब जेल की अपेक्षा कम से कम 10 डिग्री अधिक तापमान बर्दाश्त करना होगा। पंजाब में 34 डिग्री तापमान था‚ जबकि यहां तापमान 44 डिग्री है।

मुख्तार को एसी की बजाए मिला केवल एक पंखा

मालूम हो कि पिछली बार अंसारी जब बांदा कारागार में था तो उसे AC नसीब था लेकिन इस बार उसे पंखा ही मिला है। स्वास्थ्य परीक्षण और कागजी औपचारिकताओं के बाद उसे मंडल कारागार की बैरक नंबर–16 (मुलाहिजा बैरक) में शिफ्ट किये गए मुख्तार अंसारी को एक दिन एक रात गुजारना कठनाई में रहा। फिलहाल उसे इसी बैरक में लगभग एक सप्ताह रहना होगा उसके बाद बैरक बदले जाने पर फैसला किया जा सकता है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

महामारी ने मचाई आफत:कोरोना का स्ट्रेस लोगों के चेहरों पर दिखाई दे रहा; दाह संस्कार के लिए 2 परिवार आपस में भिड़े , वीडियो हुआ वायरल

  उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में कोरोना काल का स्ट्रेस अब लोगों पर साफ …