ईपीएफओ ने जुलाई में जोड़े 18.23 लाख अंशधारक, बढ़े रोजगार के अवसर

20epfo1_72
नई दिल्ली, 20 सितंबर (हि.स)। देश में संगठित क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़े हैं। यह जानकारी कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के जारी ताजा आंकड़ों से पता चला है। ईपीएफओ ने इस साल जुलाई महीने में 18.23 लाख नए अंशधारक जोड़े हैं, जो पिछले साल के इसी माह के मुकाबले 24.48 फीसदी ज्यादा है।

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने मंगलवार को जारी बयान में यह जानकारी दी। ईपीएफओ के नियमित वेतन पर रखे जाने वाले कर्मचारियों के अस्थायी आंकड़ों के मुताबिक जुलाई में जोड़े गए कुल नए सदस्यों में से करीब 10.58 लाख सदस्य पहली बार कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के सामाजिक सुरक्षा के दायरे में आए हैं। आंकड़ों के मुताबिक नए सदस्यों की संख्या में ये बढ़ोतरी अप्रैल, 2022 से जारी है।

ईपीएफओ के मुताबिक कुल 10.58 लाख नए सदस्यों में से करीब 57.69 फीसदी सदस्य 18 से 25 साल के आयु वर्ग के हैं। हालांकि, इस महीने के दौरान करीब 4.07 लाख सदस्य से बाहर हो गए और 11.72 लाख सदस्य बाहर जाकर दोबारा ईपीएफओ में शामिल हो गए। इन सदस्यों ने अंतिम सेटलमेंट का विकल्प चुनने के बजाय धन के ट्रांसफर के जरिए अपनी सदस्यता बरकरार रखने का विकल्प चुना है।

दरअसल, इसका श्रेय ईपीएफओ के निरंतर और निर्बाध सेवा वितरण के लिए उठाए गए विभिन्न ई-पहलों को दिया जा सकता है, जो यह बताता है कि शिक्षा पूरी करने के बाद नए लोगों को संगठित क्षेत्र में काम मिल रहा है। इसके साथ ही संगठित क्षेत्र में जो नौकरियां आ रही हैं, वे युवाओं को मिल रही हैं।

Check Also

06_10_2022-raja_warring.jfif

राजा वारिंग ने पंजाब सरकार की शत्रुतापूर्ण राजनीति की निंदा की और झूठे मामले दर्ज करते हुए कहा कि पार्टी इसका जवाब लोक कच्छेरी में देगी

चंडीगढ़: पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वारिंग ने कांग्रेस पार्टी के नेताओं के खिलाफ आम …