लातेहार में JJMP और झारखंड जगुआर के बीच मुठभेड़:झारखंड जगुआर के सहायक कमांडेंट शहीद, सुरक्षाकर्मियों ने एक उग्रवादी को मार गिराया; मुठभेड़ स्थल से हथियार बरामद

 

झारखंड जगुआर के जख्मी सहायक कमांडेंट को हेलिकॉप्टर की मदद से रांची स्थित मेडिका अस्पताल भेजा गया, जहां वो शहीद हो गए। - Dainik Bhaskar

झारखंड जगुआर के जख्मी सहायक कमांडेंट को हेलिकॉप्टर की मदद से रांची स्थित मेडिका अस्पताल भेजा गया, जहां वो शहीद हो गए।

सदर थाना क्षेत्र के सलैया जंगल में झारखंड जगुआर और झारखंड जन मुक्ति परिषद (जेजेएमपी) के उग्रवादियों के बीच मुठभेड़ हो गई। इस घटना में झारखंड जगुआर के सहायक कमांडेंट राजेश कुमार शहीद हो गए। वहीं, सुरक्षाकर्मियों ने एक उग्रवादी को मार गिराया। मुठभेड़ स्थल से हथियार भी बरामद किया गया है।

मारे गए उग्रवादी की फिलहाल पहचान नहीं की जा सकी है। दरअसल, सुरक्षाकर्मियों को यह गुप्त सूचना मिली थी कि जेजेएमपी उग्रवादी संगठन के कुछ सदस्य सलैया जंगल में जुटे हुए हैं। इसी सूचना पर सुरक्षाकर्मी जंगल में पहुंचे। तभी उग्रवादियों की जवानों पर नजर पड़ गई और उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी।

जवाबी कार्रवाई के दौरान सुरक्षाकर्मियों ने भी फायरिंग की और एक उग्रवादी को मार गिराया। हालांकि इस मुठभेड़ के दौरान उग्रवादियों की गोली लगने से झारखंड जगुआर के सहायक कमांडेंट जख्मी हो गए। सहायक कमांडेंट को हेलिकॉप्टर की मदद से रांची स्थित मेडिका अस्पताल भेजा गया, जहां वो शहीद हो गए।

घायल अधिकारी की पत्नी से एसपी ने की मुलाकात

घटना की सूचना मिलते ही घायल अधिकारी की पत्नी व परिजन राजहार स्थित हेलीपैड पहुंचे। जहां एसपी अंजनी अंजन ने मुलाकात कर परिजनों को सांत्वना दिया। घटना के बाद परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल है।

सप्ताह भर से चल रहा था सर्च अभियान

सूत्रों के अनुसार, पुलिस द्वारा लगभग एक सप्ताह से नक्सलियों के विरुद्ध अभियान चल रही थी। इसी दौरान पुलिस को सूचना मिली कि सलैया जंगल में जेजेएमपी के उग्रवादी एकत्रित हुए हैं। इसके बाद झारखंड जगुआर के जवान नक्सलियों के टोह में निकले थे, जहां मुठभेड़ हुई।

रिपोर्ट: पंकज प्रसाद।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

जस्टिस सुभाष चंद्र ने झारखंड हाईकोर्ट के न्यायाधीश के रूप में ली शपथ

रांची:  जस्टिस सुभाष चंद्र ने मंगलवार यानी आज सुबह 10 बजे झारखंड हाईकोर्ट के 20वें …