ईडी को मिले अर्पिता और पार्थ की घनिष्ठता के सबूत

parth and arpita_832

कोलकाता, 21 सितंबर (हि.स.)। पश्चिम बंगाल के बहुचर्चित शिक्षक नियुक्ति भ्रष्टाचार मामले की जांच कर रही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी महिला मित्र अर्पिता मुखर्जी के अनौपचारिक संबंधों से जुड़े अहम तथ्य मिले हैं। बताया गया है कि दोनों के बीच ना सिर्फ नजदीकियां थी बल्कि वे एक बच्चे के माता-पिता बनने पर भी सहमत थे। इसके लिए पार्थ चटर्जी ने सहमति पत्र पर हस्ताक्षर कर सर्टिफिकेट भी तैयार कर लिया था। यह जानकारी अर्पिता मुखर्जी ने पूछताछ के दौरान ईडी अधिकारियों को दी है।

ईडी के एक अधिकारी ने बताया है कि अर्पिता के फ्लैट में तलाशी के दौरान ऐसा एक पत्र बरामद हुआ था जिसके बारे में पूछताछ के बाद अर्पिता ने इस बारे में विस्तृत जानकारी दी है। इससे संबंधित जानकारी ईडी ने चार्जशीट के जरिए अलीपुर की विशेष अदालत में जमा कराई है। पार्थ चटर्जी ने नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट दिया है। उसमें यह भी कहा है कि अर्पिता अगर किसी बच्चे को गोद भी लेती है तो उसे भी वह अपने संतान की तरह स्वीकार करेंगे।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले पार्थ चटर्जी ने पूछताछ में दावा किया था कि वह अर्पिता को नहीं जानते और जैसे आम लोगों से उनका मिलना जुलना था उसी तरह से अर्पिता से भी मिलते जुलते थे। उस दावे पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। इसी के आधार पर ईडी ने कोर्ट में यह भी दावा किया है कि पार्थ चटर्जी पूछताछ के दौरान जांच अधिकारियों को गुमराह करने की कोशिश रहे हैं।

Check Also

shah_124

केंद्रीय गृह मंत्री ने साणंद में 350 बिस्तरों वाले ईएसआईसी अस्पताल का भूमिपूजन किया

अहमदाबाद/नई दिल्ली, 26 सितंबर (हि.स.)। केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने सोमवार को …