दिल की बीमारी के खतरे को कम करते हैं ये नट्स.. रोज खाएं

अखरोट हमारी सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद होता है। वे प्रोटीन, फाइबर और स्वस्थ वसा में उच्च हैं। मिनेसोटा विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने पाया कि जो लोग अखरोट खाते हैं उनमें हृदय रोग का जोखिम कम होता है। न्यू यॉर्क में केल्मन वेलनेस सेंटर के नैदानिक ​​​​पोषण विशेषज्ञ लॉरेन पेलेहाच कहते हैं, वे स्वस्थ वसा के साथ-साथ एंटीऑक्सिडेंट्स और कई आवश्यक खनिजों में समृद्ध हैं।

ओमेगा -3 फैटी एसिड प्राकृतिक विरोधी भड़काऊ हैं। ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने के साथ, शोधकर्ताओं का कहना है कि वे हृदय रोग के जोखिम को भी कम करते हैं। 2019 के एक अध्ययन से पता चलता है कि अखरोट आंत के माइक्रोबायोटा पर उनके प्रभाव के कारण हृदय संबंधी लाभों को प्रेरित करने में मदद कर सकते हैं।

अखरोट, जो पॉलीफेनोल्स, विटामिन ई, ओमेगा -3 और ओमेगा -6 फैटी एसिड से भरपूर होते हैं, खाने से मस्तिष्क की कार्यक्षमता में सुधार होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि वे न केवल ऑक्सीडेटिव तनाव और मस्तिष्क क्षति को कम करते हैं बल्कि संज्ञानात्मक कार्यों में भी सुधार करते हैं। वाल नट्स वजन घटाने में भी मदद करते हैं। क्‍योंकि अगर आप इनमें से कुछ खा भी लें तो.. पेट काफी देर तक भरा रहेगा। 

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर अखरोट खाने से शरीर में कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि रुक ​​जाती है। साथ ही अगर आप इन अखरोट को खाते हैं तो ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित रहेगा। यह टाइप 2 मधुमेह से जुड़ी अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के जोखिम को भी कम करता है। अखरोट वजन घटाने में मदद करने के साथ ही मधुमेह भी नियंत्रण में रहता है। 

100 ग्राम अखरोट में प्रोटीन की मात्रा 15.23 ग्राम होती है। अखरोट में फ्लेवोनॉयड्स और फेनोलिक एसिड भी होता है। अखरोट में स्वस्थ असंतृप्त वसा हृदय रोग के जोखिम को कम करते हैं। शोधकर्ताओं के मुताबिक, डायबिटीज के मरीजों को रोजाना एक मुट्ठी अखरोट खाना चाहिए। विशेषज्ञों का कहना है कि अखरोट का सेवन ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करने में फायदेमंद होता है।

Check Also

हल्की सर्दी में त्वचा को प्राकृतिक तरीके से करें मॉइस्चराइज, पेश हैं कुछ खास पैक

मौसम में बदलाव बता रहे हैं कि सर्दी आ गई है। विभिन्न शारीरिक जटिलताएँ पहले से …