गेहूं की जगह खाएं नारियल के आटे की रोटी, वजन के साथ शुगर भी होगी नियंत्रित

नई दिल्ली: अक्सर लोग रोटी बनाने के लिए गेहूं के आटे का इस्तेमाल करते हैं लेकिन क्या आपने कभी रोटी बनाने के लिए नारियल के आटे का इस्तेमाल किया है? हाँ, इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है। नारियल का आटा गेहूं के आटे से भी ज्यादा फायदेमंद होता है. जानिए नारियल के आटे के फायदे.
वजन घटाने में मददगार
नारियल का आटा फाइबर से भरपूर होता है, जो पाचन तंत्र को स्वस्थ रखता है और वजन घटाने में भी मदद करता है। इसे खाने से पेट काफी देर तक भरा रहता है, जिससे भूख नहीं लगती और वजन भी नियंत्रित रहता है.

ऊर्जा मिलती है

नारियल के आटे में हेल्दी फैट होता है, जो आपको पूरे दिन ऊर्जा देता है। इसे खाने से आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल नहीं बढ़ता है और दिल की बीमारियाँ भी दूर रहती हैं।

रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में सहायक

गेहूं के आटे की तुलना में नारियल के आटे में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होती है यानी इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है, इसे खाने से ब्लड शुगर लेवल नहीं बढ़ता है।

मांसपेशियां मजबूत होती हैं

नारियल का आटा प्रोटीन से भरपूर होता है, यह मांसपेशियों को मजबूत बनाता है।

फ्री रेडिकल्स से बचाएं

नारियल के आटे में आयरन, कॉपर और मैंगनीज होता है जो शरीर को फ्री रेडिकल्स से बचाता है।