दरोगा द्वारा की गई अभद्रता से अधिवक्ता हुए लाल बोले- कार्रवाई न होने पर होगा आंदोलन

औरैया, 24 जून (हि. स.)। अधिवक्ता दिनेश सिंह चौहान के साथ गत दिवस बाजार में दरोगा गिरीश चंद्र यादव द्वारा किये गए दुर्व्यवहार को लेकर जिला जजी के अधिवक्ताओं में आक्रोश दिखाई दिया। अधिवक्ताओं ने आज एक बैठक कर आरोपी दरोगा के खिलाफ मुकदमा लिखकर तत्काल निलंबन की मांग की। अधिवक्ताओं ने पुलिस प्रशासन को दो टूक कहा कि यदि दो दिवस के अंदर उनकी मांगें नहीं मानी जाती हैं तो सोमवार से जिला जजी के अधिवक्ता हड़ताल शुरू करेंगे।

जिला बार एसोसिएशन के कनिष्ठ उपाध्यक्ष अरविंद कुमार की अध्यक्षता में अधिवक्ताओं की आज हुई बैठक में दरोगा गिरीश चंद्र यादव की कार्यशैली को पुलिसिया गुंडागर्दी बताते हुए पूर्व महामंत्री और वरिष्ठ अधिवक्ता गिरजाकान्त त्रिपाठी ने कहा कि अधिवक्ता को समाज मे सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है, किन्तु दरोगा गिरीश यादव ने परिचय बताने के बाद भी अभद्रता करके पुलिसिया गुंडागर्दी की हदें पार की है। उन्होंने कहा कि दरोगा की हरकतें नाकाबिले बर्दाश्त है। धीरेंद्र शुक्ल ने कहा कि यह घटना दो दिन पुरानी है और पीड़ित अधिवक्ता द्वारा इसकी लिखित शिकायत थानाध्यक्ष के अलावा उच्चाधिकारियों को लिखित रूप से दी जा चुकी है। फिर भी अभी तक आरोपी के खिलाफ कार्रवाई न होना चिंतनीय है।

वरिष्ठ अधिवक्ता सौरभ पाठक ने कहा कि कानून व्यवस्था की चाक चौबन्दी को लेकर अधिवक्ता समाज सदैव से जिला प्रशासन का सहयोग करता आया है, लेकिन पुलिस ने कई बार मर्यादा को भंग कर अधिवक्ताओं का उत्पीड़न किया है। यह अत्यंत आपत्तिजनक और निंदनीय है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के पुलिस प्रमुख ने स्पष्ट रूप से आदेश जारी कर आमजन के साथ सदाचार का व्यवहार करें लेकिन दरोगा ने अपने ही पुलिस प्रमुख के आदेशों की अवहेलना कर निंदनीय कार्य किया है। पाठक ने कहा कि दरोगा का कार्य अनुशासनहीनता की परिधि में आता है इसलिए उनके ख़िलाख विभागीय कार्रवाई भी होनी चाहिए।

पीड़ित अधिवक्ता दिनेश सिंह चौहान ने अपने साथ घटी घटना को अधिवक्ताओं को बताते हुए कहा कि उन्होंने दरोगा से अपना परिचय बताया तो वह और भड़क गए और इसके बाद उन्होंने दुर्व्यवहार करना शुरू कर दिया। बैठक में अधिवक्ताओं ने अधिवक्ता दिनेश चौहान के साथ हुई पुलिसिया उत्पीड़न के खिलाफ एक निंदा प्रस्ताव पास करते हुए पुलिस अधीक्षक से आरोपी दरोगा के खिलाफ तत्काल कठोर कार्रवाई की मांग की। बैठक में हेमू चौबे, अभिषेक द्विवेदी, वैभव तिवारी, नागेंद्र त्रिपाठी, धीरेंद्र भदौरिया, सनी तिवारी, ऋषभ चतुर्वेदी, कंचन चौधरी, सक्षम सेंगर, विवेक कुशवाह, शालू दुबे, सूरज शर्मा, अनुराग त्रिपाठी, अमित शुक्ला, सुरेश मिश्रा सहित अन्य अधिवक्ता मौजूद रहे।

Check Also

यमुना नदी में नहाते समय डूबे मामा-भांजे, गोताखोर तलाश में जुटे

कानपुर देहात, 24 जून (हि.स.)। जनपद के मूसानगर थानाक्षेत्र में मंदिर में प्रसाद चढ़ाने निकले …