पिछले 1000 सालों में सबसे भीषण बारिश के कारण चीन में मचा हाहाकार, लोगों ने कहा-कोरोना के कुकर्मों की मिल रही सजा

चीन में पिछले कुछ दिनों से जबरदस्त बारिश हो रही है और इसके कारण देश में हाहाकार की स्थिति बन गई है। बताया जा रहा है कि पिछले एक हजार साल में चीन में ऐसी बारिश नहीं देखी गई है। जिसके चलते चीन के कई इलाकों में बाढ़ आ गई है और लोगों के सामने संकट की स्थिति है। साथ ही कई लोग भारी बारिश के चलते अपनी जान भी गंवा चुके हैं। हालांकि कहा जा रहा है कि यह चीन को उसके बुरे कर्मों की सजा मिली है, जो उसने कोरोना वायरस को दुनिया में फैलाकर किया है। दुनिया में कोरोना वायरस चीन से फैला है। इसे लेकर किसी को कोई संदेह नहीं है। बस इस बात को लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं कि चीन ने यह वायरस लैब में तैयार किया या फिर यह चीन के मीट मार्केट से दुनिया के दूसरे देशों तक पहुंचा।

चीन में भारी बारिश के चलते देश के निचले हिस्सों में पानी भर चुका है। लोगों को एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए भी मशक्कत करनी पड़ रही है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, देश के कई निचले इलाकों में लोगों के सामने संकट की स्थिति है। बहुत से लोगों को गले तक पानी की स्थिति में जिंदगी को बचाने की कोशिश करनी पड़ी है। हेनान प्रांत में पिछले एक हजार वर्षों में हुई सबसे भीषण बारिश के कारण कम से कम 25 लोग अपनी जिंदगी को गंवा चुके हैं।

चीन के सोशल मीडिया और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर चीन की बदहाली की तस्वीरें सामने आई हैं। इन तस्वीरों से साफ है कि पानी ने वहां पर भीषण तबाही मचाई है। एक शहर की मेट्रो में लोग कमर तक पानी में नजर आते हैं। पानी में डूबी गाड़ियां और कमर तक पानी में से निकलते लोगों को देखकर हर कोई स्तब्ध है। ऐसी बहुत सी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। चीन ने लोगों की परेशानी को दूर करने के लिए सेना तक को उतार दिया है।

तीन दिन में साल भर की बारिश

चीन में बारिश के कारण आफत की स्थिति पैदा हो गई है। चीन के झेंगझोउ प्रांत में भी स्थितियां बेहद खराब हैं। यहां साल भर में 640 मिमी बारिश होती है, लेकिन सिर्फ तीन दिन में ही बारिश का आंकड़ा 617 मिमी तक पहुंच गया है। जिसके बाद बारिश से बुरी तरह से प्रभावित इलाकों में रेड अलर्ट घोषित किया गया है।

लोगों ने बताया कोरोना के कुकर्मों का फल

चीन की बारिश को लेकर तस्वीरें वायरल होने के बाद बहुत से लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया जताई है। पिछले एक हजार साल में ऐसी बारिश नहीं होने की खबर के बाद बहुत से लोगों ने इसे कोरोना से जोड़ा है। कुछ लोगों ने कहा है कि चीन में भीषण बारिश का कहर उसके कुकर्मों का प्रतिफल है। वहीं कई लोगों ने कहा है कि चीन ने कोरोना के कारण दुनिया को बहुत बड़ी मुसीबत दी और खुद आराम से था, जिसके बाद ईश्वर ने उसे सजा दी है। जानकारों के मुताबिक, चीन की बारिश के पीछे जलवायु परिवर्तन जिम्मेदार है।

Check Also

Coronavirus आज का नहीं है, चीन में तो 19 साल पहले ही फैल गया था!

चीन के वुहान से निकले कोरोना वायरस (Coronavirus) ने दुनिया दुनिया भर में कोहराम मचा …

");pageTracker._trackPageview();