अलवर में भारी बारिश से हुसैपुर का बांध टूटा:करीब एक तिहाई पानी निकल कर खेतों में भर गया, कई फसलें बर्बाद; देर रात को किशनगढ़बास व तिजारा में हुई 45 मिमी बारिश

हुसैपुर का बांध टूटने के बाद खेतों में भरा गया पानी। - Dainik Bhaskar

हुसैपुर का बांध टूटने के बाद खेतों में भरा गया पानी।

अलवर जिले के किशनगढ़बास क्षेत्र में बारिश के कारण हुसैपुर का बांध टूट गया। बांध का करीब एक तिहाई पानी निकल गया। जो खेतों में भर गया। बुधवार देर रात को तिजारा व किशनगढ़बास में अच्छी बारिश के कारण बांध में करीब 20 फीट तक पानी आ गया था। जिसमें धीरे-धीरे कटाव आता गया। रात से ही पानी रिसना शुरू हो गया था। सुबह उसे दुरुस्त करने का प्रयास विफल रहा। अब तक बांध का पानी निकल रहा है।

यहां से बांध टूटा। पानी तेज बहाव से निकला।

यहां से बांध टूटा। पानी तेज बहाव से निकला।

पंचायत के पास है बांध की जिम्मेदारी
सिंचाई विभाग के आंकड़ों के अनुसार बुधवार रात को किशनगढ़बास में 33 व तिजारा में 53 मिमी बारिश दर्ज की गई है। हुसैपुर गांव इसके बीच में पड़ता है। यहां बारिश अच्छी होने से रात को बांध पानी से भर गया। इसके बाद पानी धीरे-धीरे रिसने लगा। बांध को समय पर उसे दुरुस्त नहीं किया गया। इस कारण बांध टूट गया। फिर तेजी से बांध का करीब एक तिहाई पानी निकल गया।
रात को ही लग गई थी सूचना
ग्राम पंचायत सरपंच रामप्रसाद ने बताया कि बांध में पानी की आवक रात को अधिक हुई है। गांव के इस्राइल ने उनको सूचना दी। इसके बाद पंचायत के स्तर से मिट्टी के कट्टे लगा कर बांध को दुरुस्त करने का प्रयास किया गया। लेकिन बांध के पानी को नहीं रोका जा सका। धीरे-धीरे बांध ज्यादा टूट गया। इस कारण पानी के बहाव को नहीं रोक पाए। अब तक करीब एक तिहाई पानी निकल चुका। जेसीबी से भी बांध पर मिट्टी डालने के प्रयास विफल रहे हैं।

इस तरह बांध टूटने के बाद पानी निकला।

इस तरह बांध टूटने के बाद पानी निकला।

खेतों में भर गया पानी
ग्रामीणों ने बताया कि पंचायत व प्रशासन समय पर बांध को दुरुस्त करने पहुंचता तो बांध को टूटने से बचाया जा सकता था। अब बांध को पानी टूटकर आगे खेतों में भर गया। काफी खेतों में खड़ी फसल बर्बाद हो गई है। वहीं अब भी बांध को दुरुस्त करने के प्रयास तेज नहीं हो सके हैं। हालांकि बांध के टूटने से किसी तरह का नुकसान सामने नहीं आया है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

IMD Rain Update: पहाड़ों से लेकर मैदानों तक आफत की बारिश, अभी 4 दिन राहत के आसार नहीं

नई दिल्ली: देश में मानसून (Monsoon) गर्मी से राहत देने के लिए आता है. लेकिन यही …