पीने का पानी : अगर आप खड़े होकर पानी पीते हैं, तो आप इन बीमारियों को न्यौता देते हैं

मुंबई: पानी की अहमियत हम सभी जानते हैं. पानी शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है। पानी शरीर को हाइड्रेट रखता है और कई तरह की बीमारियों से भी बचाता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि एक दिन में कम से कम 8 गिलास पानी पीना जरूरी है। लेकिन हमें पानी पीने का सही तरीका भी जानना होगा। नहीं तो साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं।

1. फेफड़ों को नुकसान

जब आप खड़े होकर पानी पीते हैं तो जरूरी पोषक तत्व और विटामिन लीवर और पाचन तंत्र तक नहीं पहुंच पाते हैं। यह आपके फेफड़ों और हृदय के कार्य को बाधित करता है क्योंकि यह ऑक्सीजन के स्तर को कम करता है।

 

2. गठिया का खतरा बढ़ जाता है

जब आप खड़े होकर पीते हैं, तो यह नसों पर तनाव डालता है, द्रव संतुलन को बाधित करता है, और शरीर में विषाक्त पदार्थों और अपच को बढ़ाता है, यहां तक ​​कि जोड़ों में तरल पदार्थ जमा हो जाता है, जिससे गठिया और हड्डियों का नुकसान होता है।

 

3. किडनी समस्या

जब हम बैठते हैं तो हमारी किडनी बेहतर तरीके से फिल्टर होती है। अगर आप इस पोजीशन में खड़े रहकर पानी पीते हैं तो यह बिना फिल्टर किए सीधे पेट के निचले हिस्से में चला जाता है। इसके कारण पानी में अशुद्धता मूत्राशय में जमा हो जाती है और गुर्दे की कार्यप्रणाली को बिगाड़ देती है। इससे मूत्र मार्ग से संबंधित रोग हो सकते हैं।

4. अपच

खड़े होकर पानी पीने से भी पाचन तंत्र को नुकसान पहुंचता है। क्योंकि जब हम खड़े होकर पानी पीते हैं तो यह तेज गति से अन्नप्रणाली से होकर सीधे पेट के निचले हिस्से में जाता है। जो हानिकारक है। खड़े होकर पानी तेजी से पीने से नसों पर दबाव पड़ता है, जिससे द्रव असंतुलन और विषाक्त पदार्थ और अपच बढ़ जाता है।

तो पानी पीने का सही तरीका क्या है?

जानकारों के मुताबिक पानी पीने का सही तरीका है बैठ कर पानी पीना। एक कुर्सी पर बैठ जाएं, अपनी पीठ सीधी रखें और फिर पानी पिएं। यह पोषक तत्वों को मस्तिष्क तक पहुंचने की अनुमति देता है और मस्तिष्क के कार्य में सुधार करता है। इतना ही नहीं, यह पाचन में सुधार करता है और सूजन को रोकता है।

Check Also

Health Care: इस चीज को खाकर आप हमेशा रह सकते हैं हॉट और फिट! कारण जानिए

नई दिल्ली: सेहत के लिए कुछ स्वादिष्ट और पोषक तत्वों से भरपूर खाने से दिन अच्छा …