Tulsi Ka Kadha: Immunity बूस्ट करने के लिए पिएं तुलसी का काढ़ा, इन 2 तरीकों से बनाएं

Tulsi Ka Kadha: तूलसी का काढ़ा (Tulsi Ka Kadha) सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है. तुलसी का पौधा (Tulsi Ka Paudha) सिर्फ धार्मिक दृष्टि से ही महत्वपूर्ण नहीं है बल्कि ये सेहत के लिहाज से भी हमारे लिए काफी उपयोगी होता है. इसमें मौजूद एंटी एलर्जिक गुण हमे रोगों से बचाने में काफी मददगार होते हैं. मौसम में बदलाव के दौरान हमारे शरीर क रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) में कमी आती है. ऐसे में ये ज़रूरी हो जाता है कि ऐसे समय हमारा शरीर बीमारियों से लड़ सके. इस वक्त तुलसी का काढ़ा हमारे शरीर को रोगों से लड़ने में काफी मदद कर सकता है.
माना जाता है कि मकर संक्रांति (Makar Sankranti) के बाद से ही मौसम में बदलाव शुरू हो जाता है. ठंड कम होने लगती है और वसंत का आगमन होने लगता है. इस वक्त में भी हमारे शरीर की इम्यूनिटी मजबूत रखना ज़रूरी होता है. हाल ही में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) के मामले भी देशभर में तेजी से बढ़े हैं, ऐसे में हर कोई अपनी सेहत को लेकर काफी फिक्रमंद हो गया है. आज हम आपको अपने शरीर की इम्यूनिटी मजबूत करने के लिए तुलसी का काढ़ा बनाने के 2 तरीके बताने जा रहे हैं, जिससे आप इसे घर पर ही आसानी से तैयार कर सकते हैं.

तुलसी का काढ़ा बनाने के तरीके

पहला तरीका
तुलसी का काढ़ा बनाने के लिए एक गहरे तले वाला बर्तन लें. उसमें 2 गिलास पानी डालें और उबलने के लिए गैस पर रख दें. जब पानी गर्म हो जाए तो उसमें तुलसी के पत्ते, कसा अदरक, दालचीनी पाउडर और काली मिर्च को डालकर एक चम्मच की मदद से सभी को पानी में घोल दें. इसके बाद बर्तन को ढंक कर लगभग 15 मिनट के लिए उबलने रख दें. जब पानी की मात्रा आधी से थोड़ी सी ज्यादा रह जाए तो गैस बंद कर दें और काढ़े को ठंडा होने के लिए छोड़ दें. इस तरह आपका तुलसी का काढ़ा तैयार हो गया है.

 

इसका स्वाद बढ़ाने के लिए आप चाहें तो नींबू का रस, शदह या फिर गुड़ को भी मिला सकते हैं. मौसम में बदलाव के दौरान या तेज सर्दियों में इस काढ़े को रोज पीने से कई बीमारियों में आराम के साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा होता है.

दूसरा तरीका
तुलसी का काढ़ा बनाने के लिए सबसे पहले तुलसी के पत्तों को लें और उन्हें अच्छी तरह से धो लें. अब मुनक्का को भी साफ पानी में 2 मिनट के लिए गला दें. अब कालीमिर्च और दालचीनी को लेकर उसका पाउडर तैयार कर लें. इसके बाद अदरक लेकर उसे कद्दूकस कर लें. गले में खराश होने पर या सर्दी महसूस होने पर 2-3 लौंग का भी काढ़े में इस्तेमाल किया जा सकता है. अब एक गहरे तले वाले बर्तन में 2 गिलास पानी डाल दें और उसे उबालने के लिए गैस पर रख दें. जब पानी गर्म हो जाए तो उसमें तुलसी, मुनक्का सहित अन्य सभी चीजों को डाल दें और 15 से 20 मिनट तक पानी को उबलने दें.

इस दौरान बर्तन को ढंक दें. जब पानी आधा रह जाए तो गैस बंद कर दें. पानी ठंडा होने के बाद उसे छन्नी से छान लें. इस तरह आपकी इम्यूनिटी बढ़ाने वाला काढ़ा बनकर तैयार हो गया है.

Check Also

हाथ को सैनिटाइजर करने के बाद, कभी न करे ऐसी गलती

सैनिटाइजर का इस्तेमाल कोरोना वायरस से बचने के लिए किया जा रहा है। हाथों को …