डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के हिन्दू होमलैंड में हिन्दू बदहाल – डॉ पंकज कुमार राय

कोलकाता, 20 जून (हि.स.)। पश्चिम बंगाल दिवस के मौके पर सोमवार को कोलकाता स्थित योगेशचन्द्र चौधरी कॉलेज के प्राचार्य डॉ पंकज कुमार राय ने डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी को याद करते हुए कहा है कि डॉ मुखर्जी के हिन्दू होमलैंड में आज हिन्दुओं की हालत बदतर है।

पंकज राय ने कहा कि भारत के आठ राज्यों एवं एक केंद्र शासित क्षेत्र अल्पसंख्यक बहुल हो चुके हैं। पश्चिम बंगाल के 23 में से तीन जिलों में वर्तमान में अल्पसंख्यकों की संख्या अधिक है। उन्होंने कहा कि देश विभाजन के समय डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने बंगाली हिन्दुओं के लिए अलग होमलैंड (मातृभूमि) की मांग की थी। इसके लिए उन्होंने जनमत भी जुटाया था।

डा राय ने कहा कि देश विभाजन के बाद हुए दंगों, 1971 में बांग्लादेश मुक्तियुद्ध एवं बाद में बांग्लादेश में धर्म के आधार पर हिंदुओं को प्रताड़ित किये जाने एवं घुसपैठ की वजह से पश्चिम बंगाल धार्मिक दृष्टि से जर्जर हो गया है। खागरागढ़, बादुड़िया, बसीरहाट, डोमकल, हरिदेवपुर एवं बारासात आज आतंकियों का अड्डा बन गया है। यह कहा जा सकता है कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के सपना एवं हिन्दू होमलैंड (मातृभूमि) में आज हिन्दुओं की हालत बदतर है।

Check Also

चावल की खेती : अब बाढ़ के पानी में बचेगी धान की फसल, जानें ‘सह्याद्री पंचमुखी’ किस्म के बारे में

धान की बाढ़ प्रतिरोधी किस्म: वर्तमान में किसान विभिन्न संकटों का सामना कर रहे हैं। कभी असमानी तो कभी …