ICMR new Covid testing rules को लेकर डॉक्टरों ने जताई आपत्ति

नई दिल्ली : आईसीएमआर के परामर्श में कहा गया कि कोविड-19 से संक्रमित पाए गए व्यक्तियों के सम्पर्क में आए लोगों की तब तक जांच करने की जरुरत नहीं जब तक उनकी पहचान आयु या अन्य बीमारियों से पीड़ित होने के चलते अधिक जोखिम वाले के तौर पर की गई हो. भारत में डॉक्टरों का प्रतिनिधित्व करने वाली एक संस्था ने इस पर आपत्ति जताई है.

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के अध्यक्ष सहजानंद प्रसाद सिंह ने कहा कि यह डॉक्टरों के लिए जोखिम भरा है, उन्होंने कहा कि वे स्वास्थ्य मंत्रालय और ICMR को पत्र लिखकर दिशानिर्देशों को बदलने के लिए कहेंगे. यह निर्णय इलाज करने वाले डॉक्टरों के लिए जोखिम भरा हो सकता है और इसलिए कोविड-19 के लिए उद्देश्यपूर्ण परीक्षण रणनीति पर नई सलाह में बदलाव की आवश्यकता है. हम आईसीएमआर और स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिखने जा रहे हैं. यह तर्कसंगत नहीं है.

डॉक्टरों का कहना है कि यह अन्य मरीजों के लिए भी ‘खतरनाक’ हो सकता है.

तीसरी लहर के दौरान, अस्पतालों ने नियमित जांच के लिए आने वाले रोगियों को देखा है, जो परीक्षण के बाद कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. लेकिन नए दिशानिर्देशों के अनुसार अब ऐसे टेस्ट नहीं किए जाने हैं. स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि नई एडवाइजरी संख्या को नियंत्रित और समतल करने के लिए जारी की गई है. उनका सुझाव है कि डॉक्टरों, स्वास्थ्य देखभाल सहायक कर्मचारियों को संक्रमण से बचाने के लिए लोगों की टेस्टिंग जारी रहनी चाहिए.

बता दें कि कोविड-19 के लिए उद्देश्यपूर्ण जांच रणनीति के लिए भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के परामर्श में यह भी कहा गया कि अंतर-राज्यीय घरेलू यात्रा करने वाले व्यक्तियों को भी जांच कराने की आवश्यकता नहीं है.

इसने कहा कि जांच या तो आरटी-पीसीआर, ट्रूनेट, सीबीएनएएटी, सीआरआईएसपीआर, आरटी-एलएएमपी, रैपिड मॉलिक्यूलर टेस्टिंग सिस्टम्स या रैपिड एंटीजन टेस्ट (आरएटी) के जरिये की जा सकती है.

परामर्श में कहा गया कि प्वाइंट आफ केयर टेस्ट (घर या स्व-जांच या आरएटी) और मॉल्युकर टेस्ट में एक पॉजिटिव को जांच दोहराये बिना संक्रमित माना जाना चाहिए.

इसमें कहा गया है कि लक्षण वाले व्यक्तियों जिनकी घर या स्व जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है, उन्हें आरटी-पीसीआर जांच करानी चाहिए.

Check Also

एनजीटी ने नोएडा प्राधिकरण को ग्रीनबेल्ट अतिक्रमण की जांच करने का निर्देश दिया

नई दिल्ली, 25 जनवरी  नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने न्यू ओखला इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी (नोएडा) …