लोगों में सेहत के प्रति न रहें लापरवाह, व्रत के दौरान रखें इन बातों का ध्यान

4-18

नवरात्रि स्वास्थ्य देखभाल युक्तियाँ: भक्त नवरात्रि के दौरान मां को प्रसन्न करने के लिए अपनी भक्ति के अनुसार उपवास करते हैं। नौ दिनों तक व्रत रखकर मां दुर्गा की पूजा की जाती है। इस दौरान कुछ भक्त फल खाते हैं तो कई नौ दिनों तक केवल पानी पीते हैं। उपवास को चिकित्सकीय रूप से सही माना जाता है। इससे आपके शरीर का मेटाबॉलिज्म लेवल भी कंट्रोल में रहता है। लेकिन नौ दिनों तक बिना खाना खाए रहना आपके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है। इसलिए अगर आप कुछ बातों का ध्यान रखेंगे तो आपकी सेहत पर बिल्कुल भी असर नहीं पड़ेगा । तो आइए आपको बताते हैं कि कैसे आप नवरात्रि व्रत के दौरान खुद को स्वस्थ रख सकते हैं।

मानसिक रूप से स्वस्थ रहें : नवरात्रि के व्रत के दौरान आपके लिए खुद को स्वस्थ रखना जरूरी है। अगर आप इस दौरान अच्छी डाइट का पालन करते हैं तो उपवास करना भी आपकी सेहत के लिए फायदेमंद रहेगा। जानकारों के मुताबिक इस दौरान ज्यादा फैट वाले खाद्य पदार्थों का सेवन न करें और खाने-पीने में पूरी तरह से कटौती न करें। यह आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है।

नवरात्रि स्वास्थ्य देखभाल युक्तियाँ
नवरात्रि स्वास्थ्य देखभाल युक्तियाँ

वजन कम करें: नवरात्रि व्रत के दौरान आप अपने वजन को नियंत्रित कर सकते हैं। तेजी से हाई कैलोरी वाली चीजों का सेवन न करके आप अपने वजन को कंट्रोल कर सकते हैं। व्रत के दौरान आप हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन कर सकते हैं। इससे आपका पाचन तंत्र भी स्वस्थ रहेगा और इसमें मौजूद विटामिन आपके स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं। फल खाने से आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल भी कम होगा।

बैलेंस डाइट का भी रखें ध्यान : उपवास के दौरान आपको खुद को पूरी तरह से स्वस्थ रखने के लिए संतुलित आहार लेना चाहिए। अपने शरीर के अनुसार संपूर्ण आहार लें। व्रत शुरू करने से पहले एक-दो दिन हल्का भोजन करें। रात के खाने में आप फल, पतली खिचड़ी या दलिया खा सकते हैं. केला और आलू के चिप्स कम खाएं। टोंड दूध से पतली खीर बनाकर खाएं। इससे आपका वजन कंट्रोल में रहेगा। ज्यादा तला-भुना खाना न खाएं। आटे की जगह रोटी खाएं। फल और सूखे मेवे खाएं।

नवरात्रि स्वास्थ्य देखभाल युक्तियाँ
नवरात्रि स्वास्थ्य देखभाल युक्तियाँ

छोटे-छोटे भोजन करते रहें: दिन भर खुद को ऊर्जा से भरपूर रखने के लिए आपको छोटे-छोटे भोजन करने चाहिए। कुछ देर बाद फल, जूस का सेवन करते रहें। सब कुछ एक साथ न खाएं। यह आपके पाचन तंत्र को नुकसान पहुंचा सकता है।

हैवी वर्कआउट न करें : फास्टिंग के दौरान आपको हैवी वर्कआउट नहीं करना चाहिए। अगर आप उपवास कर रहे हैं तो जिम न जाएं, घर पर ही हल्का व्यायाम करें। बहुत भारी कसरत शरीर को और कमजोर कर सकती है। आपको कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। घर पर ही योग करें।

Check Also

Heart Attack: देश में क्यों बढ़ी हार्ट अटैक की दर….

मुंबई:  कभी हार्ट अटैक को बूढ़े लोगों की बीमारी माना जाता था। लेकिन कोरोना के …