मालिश शरीर की मालिश के चमत्कारी लाभ पता लगाना …

आज का जमाना आधुनिक दिखने का है। यह क्रेज युवाओं में अधिक प्रचलित है, खासकर वे कैसे बेहतर दिखते हैं। युवा पुरुष और महिलाएं अपनी उपस्थिति के प्रति बहुत संवेदनशील होते हैं। ऐसे में अक्सर उनकी तबीयत खराब रहती है। आज के दौर में किशोरों में हड्डियां कमजोर होना और दिमाग का कमजोर होना आम बात हो गई है। कमजोर दिमाग, कमजोर हड्डियां जैसे कई कारणों से स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं, लेकिन इसका एक कारण यह भी है कि तेल मालिश से दूर रहना भी इस समस्या का एक महत्वपूर्ण कारण है। आज के युवाओं पर एक नजर डालिए, वे अपने बालों में तेल लगाने से डरते हैं। आज के युवा जेल आदि लगाते हैं, लेकिन आमतौर पर युवा अपने बालों में तेल नहीं लगाते हैं। हमने विशेषज्ञों से सुना है कि तेल मालिश के कई फायदे हैं, न केवल बड़े, बल्कि युवा पीढ़ी इसके महत्व को नहीं समझते हैं। तो क्यों इस लेख में हम आपको तेल मालिश के फायदों के बारे में बताएंगे और इसका लाभ उठाएं।

तेल मालिश के फायदे

विशेषज्ञों के अनुसार मालिश से त्वचा में खुजली वाले तेल दूर हो जाते हैं। मसाज करने से त्वचा की मृत कोशिकाएं साफ होती हैं और साथ ही त्वचा को जरूरी पोषक तत्व भी मिलते हैं, जिससे त्वचा में चमक आती है। इतना ही नहीं, तेल की मालिश करने से शरीर में रक्त प्रवाह में सुधार होता है। शरीर की नसें मजबूत होती हैं। मांसपेशियों की कमजोरी भी दूर होती है। रोजाना त्वचा पर तेल की मालिश करने से मुंहासों को ठीक किया जा सकता है।

तेल मालिश के अन्य फायदों की बात करें तो मालिश से त्वचा पर जमा खराब पदार्थ निकल जाता है, जिससे त्वचा मुलायम हो जाती है। इतना ही नहीं, विशेषज्ञ डॉक्टरों के अनुसार थकान दूर करने के लिए बॉडी मसाज भी की जा सकती है। औषधीय तेलों के प्रयोग से हड्डियां मजबूत होती हैं। इससे गठिया, हड्डी, मस्तिष्क की कमजोरी आदि रोग दूर होते हैं। यह तेल मालिश के लाभों के बारे में है। अब जबकि गर्मी का मौसम चल रहा है, ऐसे में मौसम के लिए कौन सा तेल बेहतर हो सकता है।

गर्मी के मौसम में करें नारियल तेल या गाय के घी का प्रयोग

मालिश के लिए विभिन्न तेलों का उपयोग किया जाता है। विभिन्न तेलों से मालिश करने के कई फायदे हैं। हालांकि अगर गर्मी के मौसम में मालिश की बात करें तो अगर आप दोबारा नारियल तेल या गाय के घी का इस्तेमाल करते हैं तो आपको बेहतर परिणाम मिल सकते हैं। सर्दियों के मौसम की बात करें तो इस दौरान तेल मालिश का महत्व और बढ़ जाता है। इस दौरान सुबह की धूप के बाद मालिश करनी चाहिए। सर्दियों में मालिश के लिए तिल के तेल का प्रयोग करें, क्योंकि तिल का तेल शरीर को आवश्यक पोषक तत्व प्रदान करता है। साथ ही यह त्रयी यानी पित्त, पित्त और कफ से भी राहत देता है।

तेल मालिश का सही तरीका

सबसे पहले सिर की मालिश करनी चाहिए। हल्के हाथों से मालिश अवश्य करें। सिर के साथ-साथ चेहरे की भी मालिश करें। इसके बाद धीरे-धीरे गले की मालिश करें। गर्दन के बाद कंधों की गोलाकार गति में मालिश करें। फिर उंगलियों की दिशा में मालिश करें। कोहनियों और कलाइयों को गोल करें।

इसके बाद आप शरीर के सामने वाले हिस्से की मालिश कर सकते हैं। यहां ज्यादा जोर से मसाज न करें। आगे के भाग में हृदय, फेफड़े आदि महत्वपूर्ण अंग होंगे। इसलिए ज्यादा देर तक मालिश नहीं करनी चाहिए। कमर को नीचे से ऊपर तक मालिश करना एक अच्छा तरीका माना जाता है।

ऐसे में आयुर्वेद और प्राकृतिक चिकित्सा में भी मालिश को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। यह भी कहा जाता है कि यह तन और मन को नई ताजगी देता है। फिर मसाज से क्यों भागे? सिर्फ बालों को अच्छा दिखाने के लिए और उनका स्टाइल खराब न करने के लिए तेल मालिश से बचना बुद्धिमानी नहीं है। हर दिन सामान्य लोगों को स्वास्थ्य के लिए सप्ताह में एक या दो दिन तेल मालिश करनी चाहिए।

Check Also

Health Tips: अगर आप बहुत ज्यादा बैंगनी खाते हैं, तो समय रहते सावधान हो जाएं; अन्यथा …

जामुन सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह मधुमेह के साथ-साथ रक्तचाप को भी नियंत्रित …