Diabetic Patients:मधुमेह मरीज को सफेद चावल नहीं खाना चाहिए , जानें क्यों

मुंबई: अगर आप चावल (सफ़ेद चावल) नहीं खाते हैं तो आपको ऐसा नहीं लगता कि आपने पेट भर खाना खा लिया है. क्योंकि चावल चावल है, कोई उसका मालिक नहीं है। लेकिन मधुमेह रोगियों को अपने चावल के सेवन पर नियंत्रण रखना होगा। क्‍योंकि चावल खाने से ब्‍लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। इसलिए उस समय मधुमेह रोगियों की काफी पंचायत होती है। इसलिए इन मधुमेह रोगियों को सफेद चावल की जगह काले चावल का सेवन करना चाहिए। मधुमेह के रोगी काले चावल खा सकते हैं इससे ब्लड शुगर भी नियंत्रित रहता है और किसी प्रकार की परेशानी नहीं होती है. 

काले चावल खाने के फायदे

ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करता है

काले चावल फाइबर से भरपूर होते हैं जो मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद होते हैं। इतना ही नहीं चावल के और भी फायदे हैं। काले चावल में एंटी-ऑक्सीडेंट प्रोटीन और आयन होते हैं, इसके अलावा काले चावल में एंटी-इंफ्लेमेटरी और ऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो शरीर को फ्री रेडिकल डैमेज से बचाते हैं।

वजन कम करता है

मधुमेह रोगियों के लिए वजन बढ़ना एक बड़ी समस्या है। इसलिए मधुमेह के रोगियों को सफेद चावल खाने की सलाह दी जाती है, वहीं काले चावल खाने से स्वाद बरकरार रहता है और वजन नियंत्रित करने में मदद मिलती है।

 

ग्लूटेन मुक्त

मधुमेह रोगियों को ग्लूटेन से बचने की सलाह दी जाती है। ऐसे में ब्लैक राइस खाना फायदेमंद होता है क्योंकि ये ग्लूटेन फ्री होता है।

हृदय रोग में लाभकारी  

काला चावल हृदय रोग और इसके जोखिम को कम करने में मदद करता है। यह आंखों के लिए भी अच्छा होता है। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर होता है इसलिए यह शरीर में फैट को जमा नहीं होने देता और मोटापा कम करने में भी मदद करता है।

Check Also

विंटर केयर: सर्दियों में घर पर ही बनाएं नाइट क्रीम…त्वचा रहेगी रूखी

विंटर केयर: सर्दियों में सबसे ज्यादा नुकसान त्वचा को होता है, बाहर की हवा में एक …