दाम में 10 से 15 फीसदी की बढ़ोतरी के बावजूद मकर संक्रांति में गुलजार हुआ गजक का बाजार

सर्दियां बढ़ने के साथ ही बाजार में गजक (Gajak) की डिमांड भी बढ़ गई है, खासकर सर्दियों में पड़ने वाले त्योहार लोहड़ी और मकर संक्रांति (Makar Sankranti) के मौके पर गजक या फिर तिल के लड्डूओं की काफी डिमांड देखी जाती है. ऐसे में गजक विक्रेताओं के कारखानों में भी गजक बनने का सिलसिला जारी है. दरअसल सर्दियों के कुछ महीनों में ही यह डिमांड रहती है. वहीं कोरोना के चलते इम्युनिटी बढ़ाने के लिए भी लोग इसका इस्तेमाल कर रहे हैं. इसी कड़ी में ग्वालियर में इन दिनों बाजार में तिल से बनी गजक और तिल से बनी दूसरे सभी व्यंजनों की महक लोगों को अपनी ओर खींच रही है. हालांकि इस बार पिछले साल से गजक के भाव में 10 से 15 फीसदी की बढ़ोतरी (Price Increase) हुई है.

दाम में बढ़ोतरी के बावजूद लोग मकर संक्रांति के मौके पर इस खास गजक को खरीदने बाजारों में निकल रहे हैं. खास तौर पर इस बार कई तरह की गजक बाजारों में उपलब्ध है जिनका जाएगा शहर वासी उठा रहे हैं.

शुगर फ्री और यूनिटी बूस्टर गजक मौजूद

14 जनवरी यानी की आज मकर सक्रांति के मौके पर शहर भर में लोग खास तौर पर तिल से बने व्यंजन और गजक खरीदते हैं. नवंबर से फरवरी तक के सीजन में करीब 10 करोड़ की गजक की बिक्री होती है. लेकिन इस बीच मकर संक्रांति के मौके पर बाजार में जमकर गले खरीदी जाती हैं. इस बार बाजार में शुगर फ्री और यूनिटी बूस्टर गजक भी मौजूद है, जो खासतौर पर ग्राहकों की डिमांड पर ज्यादा तैयार की जाती है और उसके दाम भी आम गजक से ज्यादा होते हैं.

ड्राई फूड देसी घी गजक 480 रुपये का

गजक के निर्माता सनी के मुताबिक, सीजन में इस बार सादा गजक के दाम 300 रुपये, ड्राई फूड देसी घी गजक 480 रुपये, तिल मावा बाटी 480 रुपये, गजक का समोसा 680 रुपये का बिक रहा है. इसके अलावा पंचरत्न बर्फी 400 रुपये, मावे की गजक 480 रुपये, साबुत तिल्ली के लड्डू 280 रुपये और रेवड़ी 280 रुपये की बिक रही है.

इसके अलावा देसी घी की रेवड़ी 320 रुपये, गुड़ की चिक्की 240 रुपये प्रति किलो के भाव से बिक रही हैं. वही यूनिटी बूस्टर वाली गजक जिसमें गुड की मात्रा ज्यादा होती है उसके दाम 300 रुपये किलो रखे गए हैं.

गजक की कई वैरायटी तैयार

सर्दियों के समय पर ड्राई फूड देसी घी गजक, तिल मावा बाटी, पंचरत्न बर्फी, मावे की गजक, साबुत तिल्ली के लड्डू, गुड की गजक, चीनी की गजक, तिल पपड़ी, तिल के लड्डू, मूंगफली चिक्की, काजू गजक की कई वैरायटी तैयार की जाती है, जिसकी डिमांड काफी रहती है. दाम बढ़ने के बावजूद लोग इसकी खरीददारी करते हैं.

Check Also

Delhi Metro on Republic Day: गणतंत्र दिवस के चलते दिल्ली मेट्रो की पार्किंग सेवा रहेगी बंद, कई स्टेशनों पर नहीं कर सकेंगे एंट्री-एग्जिट

Delhi Metro Service on Republic Day 2022: गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली मेट्रो की सेवाएं …