LIC की इस पॉप्युलर पॉलिसी में जमा करें 800 रुपए का प्रीमियम, मैच्योरिटी पर मिलेगा 5.25 लाख का लाभ

इस आर्टिकल में आपको लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन की सबसे ज्यादा बिकने वाली पॉलिसी में एक जीवन लाभ (LIC Jeevan Labh) के बारे में बताने जा रहे हैं. यह एक विद प्रॉफिट पॉलिसी है जिसमें एलआईसी अपनी कमाई पॉलिसी होल्डर के साथ बोनस के रूप में शेयर करता है. इसमें पॉलिसी होल्डर को दो बोनस का लाभ मिलता है. पहला सिंपल रिविजनरी बोनस और दूसरा फाइल एडिशनल बोनस. इस स्कीम में 794 रुपए के प्रीमियम पर मैच्योरिटी पर 5.25 लाख रुपए का लाभ मिलेगा.

एलिजिबिलिटी की बात करें तो 8 साल पूरा होने पर बच्चे के नाम पर भी इस पॉलिसी को खरीदा जा सकता है. मैक्सिमम एंट्री एज 54 साल है. हालांकि इसके लिए मैक्सिमम पॉलिसी टर्म 21 साल होगा. अगर पॉलिसी टर्म 25 सालों का होगा तो मैक्सिमम एंट्री एज 50 साल है. इस तरह मैक्सिमम मैच्योरिटी एज 75 साल होता है. मिनिमम बेसिक सम अश्योर्ड 2 लाख रुपए है. मैक्सिमम सम अश्योर्ड की कोई लिमिट नहीं है.

चार राइडर और तीन पॉलिसी पीरियड

जीवन लाभ में तीन पॉलिसी पीरियड का विकल्प उपलब्ध है. पहला 16 साल, दूसरा 21 साल और तीसरा 25 साल. इसके लिए प्रीमियम पेइंग टर्म 10 साल, 15 साल और 16 साल है. प्रीमियम पेइंग टर्म तक ही पॉलिसी होल्डर को प्रीमियम का भुगतान करना होता है. हालांकि मैच्योरिटी का लाभ पॉलिसी पीरियड खत्म होने के बाद ही मिलता है. इसके अलावा पॉलिसी होल्डर्स के पास एक्सिडेंटल डेथ एंड डिसएबिलिटी, एक्सिडेंट बेनिफिट , न्यू टर्म एश्योरेंस और न्यू क्रिटिकल इलनेस राइडर का भी विकल्प होता है.

करीब 800 रुपए होगा मंथली प्रीमियम

उदाहरण के रूप में समझने के लिए अगर A की उम्र 30 साल है और उसने 2 लाख का सम अश्योर्ड खरीदा है जिसका पॉलिसी पीरियड 25 साल है तो उसका मंथली प्रीमियम 800 रुपए के करीब होगा. यहां प्रीमियम पेइंग टर्म 16 साल का होगा और इस दौरान वह कुल 1.5 लाख रुपए प्रीमियम के रूप में जमा करेगा. अगर A ने 2020 में यह पॉलिसी खरीदी है तो 2036 तक प्रीमियम का भुगतान करना होगा और इसकी मैच्योरिटी 2045 में होगी.

वेस्टेड सिंपल रिविजनरी बोनस का हिसाब

पॉलिसी मैच्योर होने पर A को कई तरह के लाभ मिलेंगे. वेस्टेड सिंपल रिविजनरी बोनस की बात करें तो अभी LIC की वेबसाइट पर उपलब्ध डेटा के मुताबिक 30 साल के शख्स के लिए यह प्रति हजार सम अश्योर्ड पर 47 रुपए है. इस तरह 25 सालों के लिए बोनस की कुल राशि 2.35 लाख रुपए होगी. (200000/1000*47=9400*25=235000 रुपए)

एडिशनल बोनस का हिसाब

फाइनल एडिशनल बोनस की बात करें तो यहां A को करीब 90 हजार रुपए मिलेंगे. यह एलआईसी की तरफ से 2020-21 के लिए बोनस के आधार पर कैलकुलेशन है. एलाईसी ने प्रति हजार सम अश्योर्ड के लिए 450 रुपए का बोनस जारी किया है. इस तरह 2 लाख सम अश्योर्ड पर कुल 90 हजार (200000/1000=200*450=90000) एडिशनल बोनस के रूप में मिलेंगे. इस तरह A को मैच्योरिटी के रूप में 200000+235000+90000=525000 रुपए मिलेंगे. उसने प्रीमियम के रूप में महज 1.5 लाख रुपए जमा किए हैं. यह मैच्योरिटी पूरी तरह टैक्स फ्री होगा.

डेथ बेनिफिट

डेथ बेनिफिट की बात करें तो अगर A की पॉलिसी पीरियड के दौरान मौत हो जाती है तो नॉमिनी को 2 लाख का सम अश्योर्ड तो मिलेगा ही साथ में रिविजनरी बोनस और एडिशनल बोनस का लाभ मिलेगा. बोनस कितना मिलेगा यह इस बात पर निर्भर करता है कि कितने दिनों तक प्रीमियम जमा किया गया है.

टैक्स में लाभ और सरेंडर पॉलिसी

पॉलिसी के शुरू होने के दो साल बाद तक इसे सरेंडर किया जा सकता है. 2 साल तक लगातार प्रीमियम जमा करने के बाद लोन की भी सुविधा उपलब्ध है. प्रीमियम पर टैक्स का फायदा सेक्शन 80सी के तहत और मैच्योरिटी पर सेक्शन 10(10डी) के तह टैक्स में राहत मिलती है.

Check Also

कोरोना के खिलाफ जंग, सरकारी खरीद के नियमों में किया गया बदलाव

नई दिल्ली : कोरोना जैसी जानलेवा बीमारी का मुकाबला करने के लिए केंद्र सरकार ने …