सफाईकर्मियों को नियमित एवं वेतन बढ़ाने की मांग को लेकर कर्मचारियों का प्रदर्शन

गाजियाबाद, 05फरवरी(हि.स.)। बोर्ड प्रस्तावित कर्मचारियों को स्थाई करने तथा वेतन विसंगति को समाप्त करने की मांग को लेकर गाजियाबाद नगर निगम के कर्मचारियों ने सोमवार को नगर निगम मुख्यालय पर प्रदर्शन किया। इस बीच नगर आयुक्त विक्रमादित्य मलिक धरना स्थल पर पहुंचे और कर्मचारियों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन कर्मचारियों ने नगर निगम के सुझाव को नकारते हुए हड़ताल जारी रखने का ऐलान किया।

सफाई कर्मचारी नेता संजय चड्ढा के नेतृत्व में सैकड़ों की तादाद में नगर निगम कर्मचारी सोमवार की सुबह को निगम मुख्यालय पर एकत्र हुए और धरने पर बैठ गए और प्रदर्शन किया। इस बीच नगर आयुक्त विक्रमादित्य मलिक धरना स्थल पर पहुंचे और सफाई कर्मचारियों से वार्ता की।

संजय चड्ढा ने बताया कि नगर निगम में 3000 से ज्यादा स्थाई कर्मचारी थे जो धीरे-धीरे सेवानिवृत्ति होते जा रहे हैं लेकिन उनके स्थान पर नई भर्ती नहीं की जा रही है। केवल सीएलसी पर कर्मचारियों को कम वेतन पर रखा जा रहा है और कर्मचारियों का उत्पपीड़न हो रहा है।

उन्होंने नगर आयुक्त के समक्ष मांग की कि कर्मचारियों को स्थाई किया जाए और जो कर्मचारी स्थाई नहीं किये जा सकते, उनका वेतन एक सम्मान किया जाए। नगर आयुक्त ने कहा कि कर्मचारियों को स्थायी करने के लिए शासन का कोई आदेश नहीं है। शासन का कोई आदेश अगर कर्मचारियों को नियमित करने का आएगा तो निश्चित तौर पर उसे मान लिया जाएगा। जहां तक वेतन बढ़ाने की बात है तो पूरे उत्तर प्रदेश में गाजियाबाद के सफाई कर्मचारियों का वेतन सबसे ज्यादा है। उन्होंने कहा कि उनके स्तर की जो भी मांगे हैं वह मानने के लिए तैयार हैं, लेकिन जो मांगे शासन स्तर की है उसे शासन को भेजा जाएगा।