Delhi Unlock: मेट्रो यात्रियों ने पहले ही दिन की नियमों की उड़ाई धज्जियां

नई दिल्ली: कोविड-19 महामारी की भयावह दूसरी लहर के चलते राष्ट्रीय राजधानी में एक महीने तक कड़े प्रतिबंध लगाए गए थे और अब अनलॉक की प्रक्रिया को शुरू करते हुए दिल्ली मेट्रो का संचालन शुरू कर दिया गया है। हालांकि सोमवार को पहले ही दिन यात्रियों को नियमों की जमकर अनदेखी की। पूर्वी दिल्ली के निर्माण विहार मेट्रो स्टेशन से राजीव चौक (ब्लू लाइन) और राजीव चौक से आईएनए मार्केट (येलो लाइन) तक मेट्रो की सवारी के दौरान स्टेशनों पर नियमित घोषणाएं की गईं कि मेट्रो के अंदर यात्रियों को अभी भी खड़े रहने की अनुमति नहीं है, लेकिन बार-बार कहने के बावजूद भी नियमों का पालन नहीं किया गया।

कोविड के उचित व्यवहार पर दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने 50 प्रतिशत बैठने की क्षमता के साथ अपनी सेवाएं शुरू कीं।

 

सरकार ने शनिवार को घोषणा की कि मेट्रो के डिब्बों में किसी भी यात्री को खड़ा नहीं होने दिया जाएगा, हालांकि सोमवार को कई लोग इसे तोड़ते हुए देखे गए।

कोविड के मामलों में असामान्य वृद्धि को देखते हुए 19 अप्रैल से दिल्ली में लॉकडाउन की घोषणा की गई थी, जबकि मेट्रो पर 10 मई से ही पूरी तरह से रोक लगा दी गई थी।

Check Also

24 घंटे में 60 हजार 471 नए कोरोना मरीज, यह संख्या 76 दिनों में सबसे कम

नई दिल्ली : देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर की रफ्तार क्रमश: धीमी पड़ती …